जयजजयप्रकाश नारायण की जयंती पर कई कार्यक्रम आयोजित

रांची,११अक्टूबर। लोकजयप्रकाश नारायण की जयंती पर कई कार्यक्रम आयोजित रांची,११अक्टूबर। लोक नायक जयप्रकाश नारायण की १०८वीं जयंती पर आज राज्य भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। राजधानी रांची में जेपी विचार मंच द्वारा एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। विधानसभा अध्यक्ष के आवास पर आयोजित विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने अपने-अपने विचार रखें। भारतीय राजनीति की दिशा, वर्तमान परिप्रेक्ष्य विषयक संगोष्ठी में विधानसभा अध्यक्ष सीपी सिंह, सूचना आयुक्त बैजनाथ मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह और चंद्रेश्र्वर तथा विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों से जुड़े प्रतिनिधि मौजूद थे। इस मौके पर १९७४ के जेपी आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभानेवाले नेताओं को भी सम्मानित किया गया। इस बीच जेपी के अनुयायियों ने इस मौके पर मोरहाबादी स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष ध्यानाकषर्ण सत्याग्रह और उपवास रखा। इस मौके पर ग्राम स्वराज के अशोक भगत ने सुखाड राहत कार्य तेज किए जाने की मांग की। उधर, हजारीबाग स्थित लोक नायक जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारागार में भी एक कार्यक्रम आयोजित कर संपूर्ण क्रांति के जनक जयप्रकाश नारायण को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कारा परिसर में नेताओं ने दिवंगत नेता के चित्र पर माल्यार्पण किया। उल्लेखनीय है कि हजारीबाग केंद्रीय कारा में ही स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान जेपी कुछ महीनों के लिए जेल में बंद रहे थे, लेकिन वे दीवार फांद कर भागने में सफल रहे थे। नायक जयप्रकाश नारायण की १०८वीं जयंती पर आज राज्य भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। राजधानी रांची में जेपी विचार मंच द्वारा एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। विधानसभा अध्यक्ष के आवास पर आयोजित विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने अपने-अपने विचार रखें। भारतीय राजनीति की दिशा, वर्तमान परिप्रेक्ष्य विषयक संगोष्ठी में विधानसभा अध्यक्ष सीपी सिंह, सूचना आयुक्त बैजनाथ मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह और चंद्रेश्र्वर तथा विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों से जुड़े प्रतिनिधि मौजूद थे। इस मौके पर १९७४ के जेपी आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभानेवाले नेताओं को भी सम्मानित किया गया। इस बीच जेपी के अनुयायियों ने इस मौके पर मोरहाबादी स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष ध्यानाकषर्ण सत्याग्रह और उपवास रखा। इस मौके पर ग्राम स्वराज के अशोक भगत ने सुखाड राहत कार्य तेज किए जाने की मांग की। उधर, हजारीबाग स्थित लोक नायक जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारागार में भी एक कार्यक्रम आयोजित कर संपूर्ण क्रांति के जनक जयप्रकाश नारायण को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कारा परिसर में नेताओं ने दिवंगत नेता के चित्र पर माल्यार्पण किया। उल्लेखनीय है कि हजारीबाग केंद्रीय कारा में ही स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान जेपी कुछ महीनों के लिए जेल में बंद रहे थे, लेकिन वे दीवार फांद कर भागने में सफल रहे थे।यप्रकाश नारायण की जयंती पर कई कार्यक्रम आयोजित रांची,११अक्टूबर। लोक नायक जयप्रकाश नारायण की १०८वीं जयंती पर आज राज्य भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। राजधानी रांची में जेपी विचार मंच द्वारा एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। विधानसभा अध्यक्ष के आवास पर आयोजित विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने अपने-अपने विचार रखें। भारतीय राजनीति की दिशा, वर्तमान परिप्रेक्ष्य विषयक संगोष्ठी में विधानसभा अध्यक्ष सीपी सिंह, सूचना आयुक्त बैजनाथ मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह और चंद्रेश्र्वर तथा विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों से जुड़े प्रतिनिधि मौजूद थे। इस मौके पर १९७४ के जेपी आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभानेवाले नेताओं को भी सम्मानित किया गया। इस बीच जेपी के अनुयायियों ने इस मौके पर मोरहाबादी स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष ध्यानाकषर्ण सत्याग्रह और उपवास रखा। इस मौके पर ग्राम स्वराज के अशोक भगत ने सुखाड राहत कार्य तेज किए जाने की मांग की। उधर, हजारीबाग स्थित लोक नायक जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारागार में भी एक कार्यक्रम आयोजित कर संपूर्ण क्रांति के जनक जयप्रकाश नारायण को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कारा परिसर में नेताओं ने दिवंगत नेता के चित्र पर माल्यार्पण किया। उल्लेखनीय है कि हजारीबाग केंद्रीय कारा में ही स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान जेपी कुछ महीनों के लिए जेल में बंद रहे थे, लेकिन वे दीवार फांद कर भागने में सफल रहे थे।प्रकाश नारायण की जयंती पर कई कार्यक्रम आयोजित रांची,११अक्टूबर। लोक नायक जयप्रकाश नारायण की १०८वीं जयंती पर आज राज्य भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। राजधानी रांची में जेपी विचार मंच द्वारा एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। विधानसभा अध्यक्ष के आवास पर आयोजित विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने अपने-अपने विचार रखें। भारतीय राजनीति की दिशा, वर्तमान परिप्रेक्ष्य विषयक संगोष्ठी में विधानसभा अध्यक्ष सीपी सिंह, सूचना आयुक्त बैजनाथ मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह और चंद्रेश्र्वर तथा विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों से जुड़े प्रतिनिधि मौजूद थे। इस मौके पर १९७४ के जेपी आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभानेवाले नेताओं को भी सम्मानित किया गया। इस बीच जेपी के अनुयायियों ने इस मौके पर मोरहाबादी स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष ध्यानाकषर्ण सत्याग्रह और उपवास रखा। इस मौके पर ग्राम स्वराज के अशोक भगत ने सुखाड राहत कार्य तेज किए जाने की मांग की। उधर, हजारीबाग स्थित लोक नायक जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारागार में भी एक कार्यक्रम आयोजित कर संपूर्ण क्रांति के जनक जयप्रकाश नारायण को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। कारा परिसर में नेताओं ने दिवंगत नेता के चित्र पर माल्यार्पण किया। उल्लेखनीय है कि हजारीबाग केंद्रीय कारा में ही स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान जेपी कुछ महीनों के लिए जेल में बंद रहे थे, लेकिन वे दीवार फांद कर भागने में सफल रहे थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *