मंदिरों के गांव मलूटी को पर्यटन क्षेत्र के रुप में विकसित करने का निर्णय

press_release_490_25-06-2013

रांची,25जून। दुमका जिले में अवस्थित मंदिरों के गांव ’मलूटी’ को पर्यटन क्षेत्र के रुप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है। मुख्य सचिव ने कहा कि मलूटी गांव का समुचित विकास एवं जानकारी के अभाव में विकास आशातीत रुप से नहीं हुआ। राज्य सरकार ने इस गाँव को पर्यटन क्षेत्र के रुप में विकसित करने का निर्णय लिया है। इस बाबत आज मुख्य सचिव आर0एस0शर्मा ने इण्डिया ट्रस्ट फॉर रुरल हेरिटेज एण्ड डेवलप्मेंट के साथ हुए बैठक में कहा कि इस स्थल का विकास इस रुप में किया जाए कि न केवल यह सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रुप में विकसित हो बल्कि आधारभूत संरचना से परिपूर्ण एक आधुनिक गाँव भी बने।मलूटी गाँव का विकास झारखण्ड सरकार इण्डिया ट्रस्ट फॉर रुरल हेरिटेज एण्ड डेवलप्मेंट के सहयोग से कर रही है। जिसमें सर दोरॉबजी टाटा ट्रस्ट एवं ग्लोबल हेरिटेज फण्ड का भी सहायोग प्राप्त है। मलूटी के विकास का डी0पी0आर0 पूर्ण रुप से तैयार है, जिसका डेमोस्ट्रेशन भी प्रस्तुत किया गया। इसके तहत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्कूल, सौर उर्जा, रेन-वाटर हेरिटेज सिस्टम, ड्रेनेज कवर सिस्टम, पेयजल, विश्राम गृह एवं बिजली की उपलब्धता शामिल है, साथ ही चेक डेम की निर्माण की योजना है, जिससे सिंचाई की व्यवस्था को भी बेहतर बनाया जा सके।
मुख्य सचिव ने कहा कि मलूटी के विकास में सरकार हर सम्भव मदद प्रदान करेगी और फण्ड की कमी नही होने दी जाएगी। उन्होंने ने दुमका के उपायुक्त को कार्य की जिम्मेवारी सौंपने का निदेश दिया ताकि विकास कार्य बेहतर ढंग से हो सके। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि विकास कार्य इस रुप में किया जाए कि वह टिकाउ हो।
बैठक में ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री आर0एस0पोद्दार ने दक्षता विकास एवं यूथ होस्टल के निर्माण पर बल देते हुए कहा कि इससे गाँव के लोगों में आत्मनिरभर्ता आएगी एवं पर्यटन स्थल के रुप में बेहतर विकास हो सकेगा।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *