एनआईए संदिग्ध आतंकियों की तलाश में जुटी

रांची,11जनवरी।झारखंड के साहेबगंज जिले के तालझारी थाना क्षेत्र से राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा बांग्लादेश के जमात उल मुजाहिद्दीन के सदस्य रिजाउल करीम को गिरफ्तार किये जाने के बाद क्षेत्र में अन्य आतंकियों के छिपे रहने की संभावना के मुद्देनजर इलाके में खुफिया एजेंसियों द्वारा विशेष नजर रखी जा रही है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एनआईए द्वारा वर्द्धमान बम विस्फोट से जुड़े आतंकी रिजाउल करीम उर्फ अनवर शेख को गिरफ्तार करने के लिए एनआईए की टीम डेढ़ महीने से साहेबगंज में कैंप कर रही थी। रिजाउल के ऊपर पांच लाख रुपये का ईनाम रखा गया था। बताया गया है कि बांग्लादेशी आतंकी संगठन के तार झारखंड से जुड़े रहने की पुख्ता जानकारी मिलने के बाद एनआईए की दो अन्य टीम इलाके में विशेष नजर बनाये हुए है। एनआईए के अधिकारी इस बात की छानबीन में भी जुटे है कि एक बांग्लादेशी आतंकी को रेललाईन दोहरीकरण में राजमिस्री का काम कैसे मिल गया और वह कब से काम कर रहा है।
एनआईए की टीम को आशंका है कि वर्द्धमान बम विस्फोट के बाद भागे कई अन्य आतंकी भी पश्चिम बंगाल की सीमा से जुड़े साहेबगंज और पाकुड़ जिले में छिपे हो सकते है,इस संभावना के मद्देनजर खुफिया एजेंसियां और एनआईए की टीम इलाके में नजर बनाये हुए है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *