हत्या के एक आरोपी को आजीवन कारावास

दुमका 29 सितम्बर । झारखंड में दुमका के तृर्तीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश आशुतोष दूबे की अदालत ने एक व्यक्ति की हत्या मामले के एक आरोपी को आज आजीवन कारावास और 25 हजार रुपया जुर्माना अदा करने की सजा सुनायी। जुर्माना की राशि अदा नहीं करने पर आरोपी को तीन माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। न्यायालय द्वारा सत्र बाद संख्या 188/2012 में अभियोजन पक्ष की ओर से न्यायालय में पेश गवाहों के बयान के आधार पर दोषी पाये जाने पर आरोपी चमरा कोल के विरुद्ध उक्त सजा सुनायी गयी। इस मामले में सरकार की ओर से अपर लोक अभियोजक ज्ञानेन्द्र कुमार झा और बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता निशिकांत ने पैरवी की और बहस में हिस्सा लिया। अपर लोक अभियोक श्री झा से मिली जानकारी के अनुसार गोपीकांदर थाना में मृतक के पुत्र्ा राजेन्द्र देहरी के बयान पर 11 अक्टूबर 2011 को चमरा कोल के विरुद्ध भादवि की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कराया गया था। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार गोपीकांदर के कोलिया गांव में 8 अक्टूबर 2011 की भााम आरोपी चमरा कोल मृतक बुद्धन देहरी के धान की खेत में मवेशी चरा रहा था। बुद्धन देहरी ने उसकी धान की खेत में मवेशी चराने से मना किया तो आरोपी उसके साथ गाली-गलौज करने लगा। गोली गलौज करने से मना कर पर चमरा कोल ने आवे ा में आकर बुद्धन देहरी को लाठी से प्रहार घायल कर दिया। जिससे वह बेहो ा होकर घटना स्थल पर ही गिर पड़ा। इस घटना को घटना स्थल से दूर मवेशी चरा रही मरामई सोरेन ने घटना को देखा था और बुद्धन को बचाने का प्रयास भी किया था।उसने घटना की सूचना गांववालों को दिया था। बुद्धन को परिजनों ने बेहो ाी की हालत में उसे घर ले गया,लेकिन सुदूर ग्रामीण इलाका होने की वजह से घायल बुद्धन को घटना के दूसरे दिन 9 अक्टूबर को इलाज के लिए गोपीकांदर स्वास्थ्य केन्द्र ले गया। जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए दुमका सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। बुद्धन को
परिजनों से दुमका सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां 11 अक्टूबर 2011 को उसकी मौत हो गयी।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *