सभी को 31 मार्च तक मिलगा राशन कार्ड

4रांची,13जनवरी। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि 31 मार्च तक सभी परिवारों को राशन कार्ड उपलब्ध करा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बीपीएल परिवारों को राशन कार्ड के माध्यम से अनाज व किरासन तेल मिलेगा, वहीं एपीएल परिवारों को राशन कार्ड के माध्यम से सिर्फ किरासन तेल मिलेगा।उन्होंने कहा कि उनकी सरकार जनता की सरकार है। ग्रामीण अपने क्षेत्र्ा की योजना में भागीदार बने। मुख्यमंत्री आज अनगड़ा प्रखंड के गेतलसूद गांव में योजना बनाओ अभियान कार्यक्रम में जनता से संवाद कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना बनाओ अभियान की शुरुआत गेतलसूद गांव से ही की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार और ग्रामीणों को मिलकर आदर्श गांव बनाना है। गांव के सभी घरों का ग्रामीण खुद ही सर्वे करे और गांव में चल रही योजनाओं की जानकारी संग्रह कर सरकार को सूचित करें तभी जनता की जरुरतों के मुताबिक सरकार विकास कार्यों को धरातल पर उतारने में कामयाब होगी। श्री दास ने कहा कि हर घर में शौचालय सुनिश्चित करने के लिए बारह हजार रुपये की राशि स्वीकृत है जिसे विधायक के माध्यम से दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि दो साल के अंदर राज्य के हर सरकारी स्कूलों में बेंच और डेस्क उपलब्ध होंगे। कृषि को महत्व देते हुए उन्होंने कहा कि दो हजार सोलह सत्र्ाह में राज्य सरकार अलग से कृषि बजट पेश करेगी। सरकार पशु हॉस्टल खोलने की भी योजना बना रही है। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव एन.एन.सिन्हा, मनरेगा आयुक्त सिद्धार्थ त्रिपाठी, रांची के उपायुक्त मनोज कुमार के अलावा बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि हर घर में शौचालय हो यह सुनिश्चित करना है। इसके लिए 12 हजार रुपये की राशि स्वी.त है, जिसे विधायक के माध्यम से दिया जाना है। मौके पर उपस्थित विधायक श्री राम कुमार पाहन व रांची उपायुक्त मनोज कुमार को जल्द से जल्द इसे पूरा करने का मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया। उन्होंने 31 मार्च तक सभी को राशन कार्ड मिलने की भी घोषणा करते हुए अपील की कि जिन सक्षम लोगों के पास बीपीएल कार्ड है, वे स्वेच्छा से इसे वापस कर दें। बाद में जांच में पकड़े जाने पर कार्रवाई होगी। श्री दास ने कहा कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री के आह्वान पर पूरे देश में 50 लाख लोगों ने गैस पर सब्सिडी को स्वयं छोड़ा ठीक उसी प्रकार गरीबों के हक के लिये सक्षम लोग स्वेच्छा से कार्ड सरेंडर कर दें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने गांव की सभी विधवा को विधवा पेंशन देने की भी घोषणा की साथ ही कहा कि गांव में किसकों इंदिरा आवास दिया जाये इसका फैसला गांव की ही कार्यकारिणी समिति करेगी। दो साल के अंदर राज्य के हर सरकारी स्कूलों में बेंच-डेस्क होंगे. अभी शुरुआत में हाई स्कूलों में बेंच-डेस्क उपलब्ध कराये जा रहे हैं। 8वीं-9वीं से स्कील की पढ़ाई शुरु करने की योजना है। हर जिले में स्कील ट्रेनिंग सेंटर भी खोले जायेंगें। .षि को महत्व देते हुए उन्होंने कहा कि 2016-17 में झारखंड सरकार अलग से .षि बजट पेश करेगी। सरकार पशु होस्टल खोलने की योजना बना रही है। इसमें लोगों को अपने पशुपालन की सुविधा मिलेगी।
श्री दास ने कहा कि बेटियों को पढ़ाये। ये श्रृष्टि की जनक हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया है। इसे आगे बढ़ाना है। उन्होंने लोगों को प्रेरित करते हुए स्वामी विवेकानंद को आदश्ा के रुप में लेने का आह्वान किया। कहा कि चरित्र निर्माण से मनुष्य का निर्माण होता है। इस अवसर पर पंचायत प्लानिंग दल ने गांव का सामाजिक मानचित्र, मुख्यमंत्री के समक्ष पेश किया। ग्रामीणों ने गांव की आवश्यकता अनुसार जरुरी विकास कार्यों के क्रियान्वयन हेतु सुझाव मुख्यमंत्री व पदाधिकारियों को दिये। ग्रामीण ने अपने सुझाव में पशुपालन के लिए शेड, प्रशिक्षण, केंचुआ खाद के लिए प्रशिक्षण, शौचालय, इंदिरा आवास की उपलब्धता, राशन कार्ड, नशा मुक्ति, टांड जमीन में फलदार वृक्ष लगाने जैसी योजनाओं को क्रियान्वित करने का सुझाव दिया।
बैठक के बाद ग्रामीणों के आग्रह पर मुख्यमंत्री ने पास ही टांड जमीन का मुआयना किया। इसके बाद स्कूली बच्चों से भी मुख्यमंत्री मिले। अपने बीच मुख्यमंत्री को देख बच्चे काफी उत्साहित थे। मुख्यमंत्री ने बच्चों के साथ फोटो भी खिंचाई और ऑटोग्राफ दिया।
बैठक में ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री एनएन सिन्हा, मनरेगा आयुक्त सिद्धार्थ त्रिपाठी, उपायुक्त रांची मनोज कुमार एवं पंचायत प्लानिंग दल, गांव की प्रमुख श्रीमती अनीता गाड़ी, स्वयं सहायता समूह, और सामुदायिक प्लानर, रोजगार सेवक-सेविकाएं समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण और स्कूली छात्र उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *