राज्यपाल ने वृश्राआश्रम व अपना घर का भ्रमण किया

6रांची,16फरवरी। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज राजकीय अनुसूचित जाति आवासीय उच्च विद्य्नालय, कमड़े रांची, बालाश्रय, आईटीआई परिसर- हेहल, वृद्धा आश्रम “अपना घर“उर्सूलाईन कान्वेंट हेसाग, दीपशिखा-नामकोम एवं अनुसूचित जनजाति बालिका छात्रावास, रांची महिला महाविद्य्नालय (विज्ञान संकाय परिसर) का भ्रमण कर निरीक्षण किया तथा वस्तुस्थिति की जानकारी प्राप्त की।
राज्यपाल सर्वप्रथम राजकीय अनुसचित जाति आवासीय उच्च विद्य्नालय, कमड़े रांची गईं। वहां वे कक्षाओं में जाकर अध्ययनरत बच्चों से मिली। इस अवसर पर उन्होंने कक्षाओं में नामांकन की स्थिति की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने बच्चों से स्कूलों में मिलने वाले भोजन के बारे में विस्तृत चर्चा की। राज्यपाल महोदया ने अनुपस्थित बच्चों के संदर्भ में जानकारी प्राप्त करते हुए कहा कि बिना आवेदन दिये बच्चे कहीं कैसे जाते हैं, स्कूल प्रबंधन इस दिशा में पूर्ण ध्यान दे। उन्हांेने कहा कि बच्चे विद्य्नालय परिसर से बाहर कहीं भी जाते हों तो पंजिका में विवरण दर्ज होना चाहिये। प्रधानाचार्य से उन्होंने मैट्रिक परीक्षाफल में विद्य्नालय के बच्चों के प्रदर्शन के संदर्भ में जानकारी प्राप्त करते हुए कहा कि यहां शिक्षकों की अच्छी स्थिति होने के बावजूद छात्रों ने परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन नहीं किया है। उन्होंने शिक्षकों से पूर्ण समर्पित भाव से अध्यापन कार्य करने हेतु कहा। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि सदैव यह प्रयास रहे कि सभी विद्य्नार्थी बोर्ड की परीक्षा में प्रथम श्रेणी से उर्तीण हों। इसके लिये उन्होंने विशेष कोचिंग की भी बात की। साथ ही उन्होंने बच्चों के सामान्य ज्ञान की पढ़ाई पर भी जोर दिया। इस अवसर पर उन्होंने दसवीं के विद्य्नार्थियों को बोर्ड परीक्षा में बेहतर परिणाम के लिये प्रोत्साहित किया तथा अपनी ओर से शुभकामनायें दी। राज्यपाल महोदया इस क्रम में छात्रावास भी गई और बच्चों से छात्रवृति की भी जानकारी प्राप्त की तथा बच्चों से भी समस्याओं के संदर्भ पृच्छा की। उन्होंने उक्त विद्य्नालय के छात्र्ाावास के कक्ष में स्वयं जाकर वस्तुस्थिति की जानकारी प्राप्त की।
राज्यपाल इसके बाद आईटीआई परिसर, हेहल स्थित बालाश्रय गईं, वहां उन्होंने बालश्रम से मुक्त कराये गये बच्चों से मुलाकात की और उनकी गतिविधियों के संदर्भ में जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर राज्यपाल महोदया को अवगत कराया गया कि इनमें से अधिकांशतः बच्चे बालश्रम से मुक्त कराये गये हैं तथा कुछ गुमशुदा बच्चे भी हैं। इन सभी बच्चों की काउंसिलिंग की जा रही है तथा इनके घर को चिन्हित होने के बाद बच्चों के घर के लोगों की भी कांउसिलिंग की जायेगी, उसके बाद ही बच्चों को उनके अभिावक को सुपुर्द किया जायेगा।
राज्यपाल महोदया इसके बाद वृद्धाश्रम“ अपना घर“ उर्सुलाईन कान्वेंट, लटमा रोड, हेसाग भी गईं जहां उन्होंने अपने बच्चों से दूर रह रहे बुजूर्गाें से मुलाकात की तथा उनकी स्थिति की बारे में जानकारी ली। तदोपरांत राज्यपाल महोदया दीपशिखा, नामकोम गईं तथा वहां दिव्यांगों से मुलाकात की एवं दिपशीखा द्वारा दिव्यांगों के लिये चलाये जा रहे गतिविधियों से अवगत हुई। अंत में राज्यपाल महोदया अनुसूचित जनजाति बालिका छात्र्ाावास, रांची महिला महाविद्य्नालय (विज्ञान संकाय परिसर) पहंुची। वहां उन्होंने छात्र्ााओं से छात्र्ाावास में सुलभ सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *