बाबूलाल  ने राज्य सरकार पर दमनात्मक कार्रवाई का लगाया आरोप

कहा- 38हजार से अधिक कार्यकर्त्ताओं को 107 व 116 का नोटिस मिलना अंग्रेजी शासन काल का याद दिलाता है
रांची,10जून। झारखंड विकास मोर्चा प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने लोकतांत्रित तरीके से चलाये जा रहे आंदोलन को दबाने के लिए राज्य सरकार पर दमनात्मक कार्रवाई का आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के 38 हजार से अधिक कार्यकर्त्ताओं को प्रशासन द्वारा धारा 107 और 116 का नोटिस भेजना अंग्रेजी शासन का याद दिलाहा है।
बाबूलाल मरांडी ने आज रांची में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दुमका के पुलिस अधीक्षक पत्र जारी कर कहते हैं कि को भी कितना बड़ा नेता क्यों न हो, सभी को गुंडा पंजी में डालो।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को नेता, गुंडे नजर आ रहे हैं और अपराधी खुले आम घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार इतना ही गंभीर है तो बस संविधान की अनुच्छेद 16 (3) के तहत एक प्रस्ताव पारित कर भेज दे, जिसमें 20 वर्ष के लिए सभी प्रकार की नौकरियां आरक्षित हो जाए। ऐसा करने से सारा श्रेय सरकार को ही जाएगा।
झाविमो प्रमुख नेकहा कि आर्थिक नाकेबंदी की सारी तैयारियां पूरी कर ली ग है। क राजनीतिक दलों व संगठनों ने समर्थन दिया है। अब यह आम आवाम का आंदोलन बन चुका है। उन्होंने कहा कि कुल 108 प्वाइंट चिन्हित किए गए हैं। 11 व 12 को खान, खनिज, बालू सहित खनिज एक भी टुकड़े का उठाव होने नहीं दिया जाएगा, उसे राज्य के अंदर व राज्य की सीमा तक रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि यह आर्थिक नाकेबंदी है, निजी व सरकारी वाहन चलते रहेंगे। परीक्षार्थी को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। बस व्यवसायिक गतिविधियां ही ठप की जाएगी। इस मौके पर सरोज सिंह, संतोष कुमार, उत्तम यादव, पिंकी झा सहित क उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *