आमजन नक्सलियों के खिलाफ एकजुट हो-सीएम

444.88करोड़ की लागत से 145योजनाओं का उदघाटन व षिलान्यास, 49 कनीय अभियंताओं को नियुक्ति पत्र
गिरिडीह,18जुलाई। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि उन्होंने कहा कि सुरक्षा और विधि व्यवस्था सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है, अपराधिक तत्वो को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जनता नक्सलियों के खिलाफ एकजुट हों। ऐसा करने से नक्सल क्षेत्र में टिक नहीं पायेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार राज्य में विकास एवं सुशासन के लिए निरंतर कार्य कर रही है, सभी को मिलकर झारखंड को सशक्त, समृद्ध तथा स्वावलंबी राज्य बनाना है। मुख्यमंत्री आज गिरिडीह के झंडा मैदान में आयोजित गरीब कल्याण मेले में आये विशाल जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस अवसर पर 444.88 करोड़ की लागत से 145 विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि वे राज्य के विकास के लिए कृतसंकल्पित है, जनसहयोग से वे बेहतर झारखण्ड के निर्माण की ओर अग्रसर है। उन्होंने गिरिडीह में उग्रवादी हिंसा में मारे गये चार परिवारों को घर निर्माण के लिए पर्चे दिये, जबकि 49 कनीय अभियंताओं को नियुक्ति पत्र सौंपे। उन्होंने इस अवसर पर ए.टी.एम और बी.टी.एम के पद पर नियुक्त तीन लोगों को नियुक्ति पत्र दिये।
मुख्यमंत्री ने गिरिडीह में चल रहे कौशल विकास कार्यक्रम के अंतर्गत प्रशिक्षित 22 युवाओं को प्रमाण पत्र दिया। उन्होंने 15 लोगों को वनाधिकार पट्टा भी दिया। 48.57 लाख की राशि से सांसद मद से खरीदी गयी 5 एंबुलेंस भी वितरण किया। उन्होंने गिरिडीह में बेहतर विधि दृ व्यवस्था के लिए 6 पेट्रोलिंग वाहन भी पुलिस को मुहैया करायी, साथ ही सुनिश्चित करने को कहा कि गिरिडीह में किसी भी प्रकार का अपराध न हो और लोग भय-मुक्त माहौल में जीवन-यापन कर सकें।

उन्होंने इस दौरान मुद्रा योजना का लाभ लेने के इच्छुक लोगों के बीच प्रधानमंत्री मुद्रा योजना शिशु योजना के लिए 1384 लाख रुपये 3977 लोगों के बीच वितरित किये। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना किशोर के लिए 414 लोगों के बीच 969 लाख रुपये और प्रधानमंत्री मुद्रा योजना तरूण के लिए 76 लोगों के बीच 554 लाख रुपये वितरित किये। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 20 लोगों को गाड़ी की खरीद के लिए 120 लाख रुपये, गृह निर्माण के लिए 26 लोगों को 239 लाख रुपये, केसीसी स्कीम के अंतर्गत 3068 परिवारों को 1611.15 लाख रुपये और शिक्षा ऋण के लिए 28 लोगों के बीच 99 लाख रुपये वितरित किये।
मुख्यमंत्री ने गिरिडीह जिला प्रशासन के ’’दिशा’’ कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि सूचना प्राद्यौगिकी के प्रयोग से शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए काफी अच्छा प्रयास किया गया है। दिशा कार्यक्रम के तहत शिक्षकों , छात्रों तथा विद्यालय की ग्रेडिग की जाएगी। उन्होंने जानकारी दी कि पीरटांड में डिग्री कॉलेज बनाने की स्वीकृति दे दी गयी है। आनेवाले दिनों में 9 नर्सिंग कॉलेज खोले जाएंगे। उन्होनें लोगों से अपील की कि वे बेटियों को पढ़ने दें।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने जेसी बोस बालिका उच्च विद्यालय में वृक्षारोपण करते हुए कहा कि झारखंड को हरा-भरा बनायें रखने के लिए हम सभी को प्रयास करना है। सरकार जल संचयन तथा हरियाली बढाने के लिए कृत संकल्पित है। इस हेतु सरकार ने वृक्षारोपण अभियान चलाया है। उन्होनें कहा कि इसके तहत मंत्री, पदाधिकारी, जन प्रतिनिधि सभी वृक्षारोपण कर रहे है। लोग इस अभियान में अपनी भागीदारी देकर इसे जन आन्दोलन बनायें।
मुख्यमंत्री ने वृक्षारोपण का महत्व बताते हुए कहा कि इससे स्वच्छ वायु में बढ़ोतरी होगी, साथ ही हरियाली भी बढेगी। वृक्ष का पर्यावरणीय महत्व होने के साथ-साथ धर्मिक, आर्थिक और औषधीय महत्व भी है। बरगद, पीपल का धार्मिक महत्व है। नीम वृक्ष के पत्तेां का औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है। वृक्ष की लकडी से फर्नीचर ,कागज, प्लाइवुड इत्यादि बनाया जाता है। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों से वृक्ष लगाने की अपील की। उन्होंने बताया कि राज्य में बर्षा जल संचयन तथा सिंचाई के लिए एक लाख से भी अधिक ढोभा का निर्माण करवाया गया है।
श्री दास ने कहा कि राज्य को कृषि, पशुपालन ,बागवानी, दुग्घ उत्पादन के क्षेत्र में आगे बढाना है। झारखण्ड में श्वेत क्रांति लानी है। झारखण्ड में उर्जा क्रान्ति लाने का प्रयास किया जा रहा है। झारखंड केा पावर हब बनाना है। पतरातू पावर प्लांट से 4000 मेगा वाट बिजली का उत्पादन होगा।
इस अवसर पर सांसद रवींद्र राय, विधायक निर्भय कुमार शाहाबादी, विधायक केदार हाजरा, विधायक जयप्रकाश वर्मा, उपायुक्त उमा शंकर सिंह, पुलिस अधीक्षक, अखिलेश बी वारियर सहित बड़ी संख्या में अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *