मंत्री चंद्रप्रकाश ने 8 जेई को किया निलंबित, कहा-

आदेश का अनुपालन हर हाल में होगा, अनुशासनहीनता नहीं चलेगी, पैरवी कराने वाले होंगे बर्खास्त
रांची,6 अगस्त । राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चन्द्र प्रकाश चौधरी ने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के आठ कनीय अभियंता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबित करने की कार्रवाई स्थानांतरण आदेश का अनुपालन नहीं करने पर की गई है। कनीय अभियंता विश्वनाथ शर्मा, युधिष्ठिर प्रसाद सिंह, उपेन्द्र प्रसाद, रामनरेश झा, चांद कुमार हेम्ब्रम, भवेन्द्र झा, अशोक कुमार एवं अविनाश कुमार को निलंबित किया गया है। इन अभियंताओं को आदेश की अवहेलना करने एवं अनुशासनहीनता बरतने का दोषी पाया गया है। निलंबित किये गये इन सभी कनीय अभियंताओं के खिलाफ में विभागीय कार्रवाई चलेगा। निलंबित किये गये इन अभियंताओं को निलंबन अवधि में अलग-अलग अंचल में रहने का आदेश दिया गया है। मंत्री ने स्पष्ट किया है कि आदेश का अनुपालन हर हाल में कराया जायेगा और अनुशासनहीनता नहीं चलेगी, कार्यों के निष्पादन में शिथिलता एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में उदासीनता बरतने वाले पदाधिकारी या अभियंता पर हर हाल में कार्रवाई होगी और तय समय सीमा के भीतर योजनाओं का क्रियान्वयन हर हाल में सुनिश्चित किया जायेगा। इसमें तनिक भी टाल-मटोल का रवैया नहीं चलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि मन मुताबिक पदस्थापन चाह रखने वाले अभियंता, जो अनुचित तरीके से पैरवी कराते हैं, ऐसे अभियंताओं को पहले निलंबित किया जायेगा तत्पश्चात विभागीय कार्रवाई चलाकर बर्खास्त किया जायेगा। साथ ही यह भी कहा कि विभागीय समीक्षा के क्रम में यह भी देखा जा रहा है कि छोटी-छोटी वजह से योजनाओं का क्रियान्वयन नहीं हो पा रहा है और इसका नुकसान आम जनों के साथ-साथ सरकार को भी उठाना पड़ रहा है। इसको लेकर पदाधिकारी व अभियंताओं को चिन्हित भी किया जा रहा है। ऐसे लोगों पर भी कार्रवाई की जायेगी।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *