शहीद शक्ति को दी गयी अंतिम विदाई

राज्यपाल ने नम आंखों से दी श्रद्धांजलि, दुकानें बंद रखकर लोगों ने भी भावभीनी श्रद्धांजलि,राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि
रांची,19अगस्त। 17 अगस्त को कश्मीर के बारामूला में आंतकवादी हमला में शहीद ’शक्ति ’ का पार्थिव शरीर उनके चतरा स्थित पैतृक गांव पहुंचा। इससे पहले शहीद शक्ति सिंह को आज रांची के नामकुम स्थित आर्मी कैंप में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू समेत अन्य वरीय अधिकारियों तथा सैन्य अधिकारियों के साथ आमजनों ने भी श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर मुख्यमंत्री की ओर से मंत्री लुईस मरांडी ने भी श्रद्धांजलि दी। जबकि चतरा के सांसद सुनील सिंह ने भी श्रद्धसुमन अर्पित की। राज्यपाल शहीद जवान के परिजनों से भी मिली और उन्हें ढाढस बंधाया। उन्होंने कहा कि यह सर्वाच्च बलिदान है। उन्होंने कहा कि सीमा पार से यह सब बंद होना चाहिए।राज्यपाल ने कहा कि आतंकवाद की समस्या का समाधान होना चाहिए , प्रधानमंत्री इसके लिए प्रयास कर रहे हैं।

आर्मी कैंप में श्रद्धांजलि देने के बाद शहीद के पार्थिव शरीर को सजे धजे रथ में हजारीबाग होकर शहीद के पैतृक गांव चतरा के लिए रवाना कर दिया गया। रांची से चतरा जाने के क्रम में रामगढ़, हजारीबाग समेत दर्जनों स्थानों पर पहले से फूल-माला के साथ खड़े लोगों ने सलामी दी और शहीद के पार्थिव शरीर पर श्रद्धासुमन अर्पित कर उन्हें याद किया तथा आतंकवादियों की इस हरकत की निंदा की।
वीर शहीद शक्ति सिंहका पार्थिव शरीर चतरा पहुंचने पर स्थानीय पुलिस लाईन में उन्हें अंतिम सलामी दी गयी। पुलिस लाईन में उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक समेत अन्य अधिकारियों के साथ ही आम जन ने श्रद्धांजलि दी। वहीं शहीद शक्ति को श्रद्धांजलि देने के लिये चतरा शहर की सभी दुकानें बंद है। बाद में उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव मयूरहंड प्रखण्ड के अम्बातरी गांव पहुंचा,जहां राजकीय सम्मान के साथ ही अंत्येष्टि हुई।

 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *