तिरंगे के साथ निकाला गया मुहर्रम का जुलूस

रांची,12अक्टूबर। राजधानी रांची में मुहर्रम के दशवीं के मौके पर आज शहर में मातमी जुलूस निकला। इस दौरान शिया समुदाय के लोगों ने इमाम हुसैन की शहादत को याद किया और अपने जिस्मों को लहुलुहान किया।
मातमी जुलूस में खास बात रही कि तिरंगा झंडा के साथ ताजिया और अलम को खड़ा किया गया। शिया धर्मावालंबियों ने कहा कि, देश का मुस्लिम समाज हमेशा से मुल्क का वफादार रहा है और हमेशा रहेगा. यज़ीदी ताकतें लाख कोशिश करें, लेकिन हिंदू-मुस्लिम हमेशा एकसाथ रहेंगे। यह पैगाम देने के लिए ही ताजिया का जुलूस तिरंगे के साए में निकाला गया। इसमौके पर मौजूद नगर विकास मंत्री सीपी सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने मुहर्रम को लेकर हजरत हुसैन की शहादत को याद किय। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय कि खुदा के बंदे की शहादत के बाद ही धर्म की स्थापना होती है।
धार्मिक परंपरा और देश भक्ति के जज्बे के साथ निकाले गये जुलूस में रांची के उपायुक्त, वरीय पुलिस अधीक्षक, सिटी एसपी समेत कई अधिकारी भी मौजूद थे। आपसी भाई चारे का और अमन-शांति के साथ मुहर्रम का जुलूस शहर के मुख्य मार्ग से इस बार नहीं निकाला गया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *