बड़कागांव में विपक्षी दलों की रैली अब 19 को

रांची,13अक्टूबर। सीएनटी व एसपीटी और गैरमजुराआ जमीन अधिग्रहण एवं 2013 भूमि अधिग्रहण कानून को अक्षरतः लागू करने तथा गोला और बड़कागॉंव में गोली चालन की घटना के विरोध में आज बिहार क्लब में गैर भाजपा विपक्ष की एक बैठक शाम 04 बजे से आहुत की गयी।
बैठक में उपरोक्त घटना के विरोध में यह निर्णय लिया गया कि 17 सितंबर की जगह 19सितंबर को संकल्प रैली बड़कागॉंव में आहुत की जायेगी असै 24 अक्टूबर को झारखंड बंद को सफल बनाने पर चर्चा हुई। बैठक की शुरुआत प्रदेश कांग्रेस कमिटी के उपाध्यक्ष अनादि ब्रह्म ने प्रस्तावना प्रस्ताव लाया जिसे सर्वसम्मति से मंजूर किया गया।
उक्त कार्यक्रम की जानकारी देते हुए राकेश सिन्हा ने बताया कि उक्त कार्यक्रम की सफलता के लिए 14 अक्टूबर को रॉंची जिला और ग्रामीण कांग्रेस की बैठक 15 अक्टूबर को उत्तरी छोटानागपुर प्रमण्डल के तहत हजारीबाग में सर्वदलीय बैठक, 17 अक्टूबर को पलामू में सभी पार्टियों की बैठक, 18 अक्टुबर को रॉंची में दक्षिण छोटानागपुर प्रमण्डल के सभी पार्टीयों के जिला अध्यक्षों एवं प्रमुख कांग्रेसजनों की बैठक बिहार क्लब में होगी तथा 22 अक्टुबर को पूरे राज्य में 24 अक्टुबर के बन्द के मद्देनजर मोटर साईकिल जुलूस और 23 अक्टूबर को राज्य भर में मशाल जुलूस निकाला जाएगा।
बैठक को सम्बोधित करते हुए झारखण्ड विकास मोर्चा के अध्यक्ष बाबू लाल मराण्डी ने कहा कि हम किसी भी हद तक सरकार ताने शाही रवैये का विरोध करेंगे। राज्य भर में सरकार के खिलाफ जनता को गोलबन्द किया जायेगा। बैठक को सम्बोधित करते हुए सुबोधकांत सहाय ने कहा कि रघुवर सरकार झारखण्ड को जालियॉंवाला बाग बनाना चाहती है। वहॉं अंग्रेजों ने देश की स्वाधीनता के लिए लड़ने वालों को मारा और झारखण्ड में भाजपानीत सरकार किसानों और मजदूरों को मरवा रही है। बैठक में मुख्य रुप से झाविमो प्रमुख बाबूलाल मराण्डी, कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय, जदयू के प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो, सुवेन्दु सेन, माकपा के राज्य सचिव गोपी नाथ बक्सी, भाकपा केडी सिंह आदि ने भी सम्बोधित किया और बैठक में अनादि ब्रह्म, राजेन्द्र प्रसाद, बटेश्वर महतो, मनोहर यादव, सुधीर सिंह, श्रवण कुमार, राजेन्द्र प्रसाद यादव, महेन्द्र पाठक, हेमंत वर्मा, संजय सहाय, सरोज सिंह, अर्जुन यादव, सुरेन्द्र सिंह, रमा खलखो, राकेश सिन्हा, पीके पाण्डेय, डॉ0 अफताब जमील, शिवला महतो आदि शामिल थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *