कस्बूरबा शिक्षकों-कर्मियों का अनशन जारी

रांची,19अक्टूबर। राज्य की कस्तूरबा गांधी बालिका विद्य्नालय के टीचिंग और ननटीचिंग स्टाफ का आमरण अनशन बुधवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। सेवा नियमितीकरण, राज्य में खाली पड़े शिक्षक पद पर समायोजन, महिला कर्मियों को मिलने वाले विशेष अवकाश, अर्जित अवकाश और छठे वेतनमान के अनुरुप वेतन की मांग को लेकर वे अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर बैठी है।
राजभवन के सामने आमरण अनशन पर बैठी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्य्नालय की शिक्षिकाओं ने सरकार पर संवेदनहीनता का आरोप लगाया है। इस बाबत अनशनकारी शिक्षिका अनिता कुमारी ने कहा कि 11 साल से लगातार सेवा देने के बाद भी उनकी जायज मांगें मानने की जगह सरकार उन्हें बर्खास्तगी की धमकी दे रही है। अनशनकारी टीचर्स का कहना है कि इस दौरान कई की तबीयत भी बिगड़ रही है, लेकिन वे स्वास्थ्य चेकअप कराने के बाद फिर से अनशन पर लौट रही हैं। उनका कहना है कि मांगें पूरी होने तक अनशन जारी रहेगा।
इधर, कुछ शिक्षकों व कर्मियों ने आज भविष्य निधि कार्यालय के बाहर भी प्रदर्शन किया और धरना देकर ईपीएफ व अन्य सुविधाओं की मांग की।
इस बीच झारखंड विद्य्नुत सप्लाई तकनीकी श्रमिक संघ के अध्यक्ष अजय राय ने आज राजभवन के समक्ष आमरण अनशन पर बैठे कस्तूरबा गांधी बालिका विद्य्नालय के शिक्षिकाओं एवम शिक्षकेतर कर्मियों के आंदोलन को अपना पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि ये राज्य सरकार से कोई भीख नहीं अपना हक मांग रहे है अगर इनके लिए जरुरत पड़ी तो श्रमिक संघ के हजारों कर्मी इनके साथ आंदोलन में शामिल होंगे । अजय राय ने कहा कि लाठी डंडे के बल बुते आंदोलन को कुचलने का प्रयास राज्य सरकार के तरफ से किया जा रहा है इससे आंदोलन को और बल मिलेगा ,समय रहते सरकार इस पर निर्णय ले नहीं तो हम सब भी आंदोलन में शामिल होने को तैयार बैठे है ।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *