26जनवरी से पहले पेश होगा वर्ष 2017-18 का बजटःसीएम

सीएम ने चाईबासा में बजट पूर्व संगोष्ठी में कहा-जनता का कर्ज चुका कर सपनों का झारखंड बनाएंगे
रांची,30नवंबर। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज चाईबासा में आयोजित प्रमण्डल स्तरीय बजट पूर्व संगोष्ठी में कहा कि राज्य की जनता गरीब रहे यह रघुवर दास को मंजूर नहीं है। राज्य की जनता के पाई पाई का कर्ज चुका कर सपनों का झारखण्ड बनाउंगा। नौकरशाही के भरोसे हम बेहतर बजट का निर्माण नहीं कर सकते। इसमें राज्य की जनता की भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए क्योंकि आपके गांव और क्षेत्र को आपसे बेहतर कोई नहीं जान सकता। जनभागीदारी नहीं होने से राज्य की जनता की जरुरतों और आंकक्षाओं के अनुरुप बजट का निर्माण नहीं हो पा रहा था। यही वजह है राज्य सरकार आपके समक्ष है।मुख्यमंत्री ने कहा कि आपके द्वारा प्राप्त सुझावों पर कार्य होगा और बजट में उपबध भी किया जायेगा। आपके सहयोग से ही राज्य की समस्याओं को कम करने में हम सफल होंगे।
रघुवर दास ने कहा कि विकास को गति मिले इसके लिए राज्य सरकार 2017 – 18 का बजट 26 जनवरी से पहले पेश करेगी। राज्य के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के उदेश्य से फरवरी 2017 में जूता बनाने की फैक्ट्री की स्थापना होगी। 2018 मार्च तक 30 लाख घरों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य राज्य सरकार ने तय किया है। नेतरहाट स्कूल की तर्ज पर सभी प्रमंडलों में स्कूलों की स्थापना होगी। आनेवाले दिनों में चार और मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए आधारशिला रखी जायेगी। सभी जिलों में कुटीर उद्य्नोग को बढ़ावा देने के लिए अर्बन हाट की स्थापना होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं में इजाफा करने के लिए युवक युवतियों को तीन वर्ष का डिप्लोमा कोर्स कराया जायेगा। ऐसे प्रशिक्षण प्राप्त लोगों को सुदूर गा्रामीण क्षे़त्र में स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने हेतु नियुक्त किया जायेगा। नर्सिंग प्रशिक्षण केंद्र चाईबासा में स्थापित किया जायेगा। इसमें आदिवासियों को प्राथमिकता दी जायेगी। अगले दो साल के अंदर कामकाजी हॉस्टल की स्थापना होगी जहां कामकाजी महिलाएं अपने बच्चों को छोड अपने कार्य का निष्पादन पूरे मनोयोग से कर सकें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोल्हान झारखण्ड निर्माण के बाद से ही उपेक्षित रहा है। यहां के खनिज नेता और नौकरशाहों मालामाल होगए और गरीब जनता के लिए छोड़ गए लाल पानी। अब ऐसा नहीं होगा दो साल के अंदर पश्चिमी सिंहभूम के लोगों को पाइप लाइन से पेयजल उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा। खासमहाल की जमीन का निष्पादन 15 दिसंबर तक होगा। मानकी मुंडा का मानदेय बढ़ाने हेतु राज्य सरकार अग्रेतर कार्रवाई करेगी। 9वीं और 10वीं के छात्रों को निःशुल्क कोचिंग की सुविधा मिलेगी ताकि वे प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर कर सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासी और गरीब लोग क्या सिर्फ रेजा कुली और मुर्गी पालने का काम करेंगे। ऐसा राज्य सरकार नहीं चाहती। राज्य सरकार परिश्रमी युवाओं को सपनों की उड़ान देगी। यहां के बच्चों को बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराया जायेगा।
इस अवसर पर मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने कहा कि राज्य में रोजगार को बढ़ावा देने के लिए सभी जिलों में कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र प्रारंभ होगा। राज्य में सखी मंडल की महिलाएं स्वरोजगार में बड़ी भूमिका निभा सकती हैं। कोल्हाण प्रमंडल के युवक और युवतियों को नियोजन हेतु महाविद्य्नालयों में कोचिंग सेंटर प्रारंभ करने पर कार्य हो रहा है। मुख्य सचिव ने कहा कि कोल्हाण की भूमि कृषि कार्य हेतु बहुत उपयुक्त नहीं है। इसे कैसे उपजाउ बनाया जाये इसको लेकर राज्य सरकार चिंतित और क्रियाशील है। सिंचाई, भूमि जुताई, बीज समेत बहुफसलीय खेती को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार कार्य कर रही है।
श्रीमती राजबाला वर्मा ने कहा कि कोल्हान के हर गांव में पेयजल की सुविधा से अच्छादित हो इसके लिए योजना तैयार हो रही है। इस योजना के तहत सभी गांव में पेयजल पहुंचाने के लक्ष्य लक्षित है। बजट निर्माण सरकार का बड़ा महत्वपूर्ण कार्य है, इसमें सरकार द्वारा लिये गए निर्णय तय किये जाते हैं। आपके सुझावों में क्षेत्र के विकास की प्राथमिकता झलकती है। आपके सुझावों पर राज्य सरकार कार्य करते हुए बजट में अवश्य प्रावघान करेगी।
विकास आयुक्त अमित खरे ने कहा कि बजट बने और वह जनता की आंकक्षाओं के अनुरुप हो। इसी निमित बजट पूर्व संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। ताकि आपके सुझावों और परामर्श को बजट में शामिल किया जा सके। पिछली बार प्राप्त सुझाव के आलोक में चाईबासा में मेडिकल कॉलेज स्थापना के लिएडीपीआर बनकर तैयार है। जिला खनन कोष के पैसों का उपयोग पेयजल सुविधा को बेहतर करने की दिशा की में होगा। श्री खरे ने कहा कि अगर संगोष्ठी में जो अपनी बातों को नहीं रख सकेंगे। वे लिखित या उलहवअण्चवतजंस में बजट से संबंधित सुझाव दे सकते हैं।
मौके पर घाटशिला विधायक लक्ष्मण टुडू, जगन्नाथपुर विधायक गीता कोड़ा, पोटका विधायक मेनका सरदार, प्रधान सचिव वन, पर्यावरण एवं पेयजल सुखदेव सिंह, प्रधान सचिव श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण मुखमित सिंह भाटिया, सचिव उच्च शिक्षा एवं तकनीकी, सचिव कृषि पशुपालन एवं सहकारिता नीतिन मदन कुलकर्णी और सचिव पंचायती राज वंदना डांडेल ने राज्य सरकार की योजनाओं को लोगों के समक्ष रखा।
इस अवसर पर कोल्हान प्रमंडल के शिक्षाविदो, छात्र प्रतिनिधियों, कृषकों, स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों, चेम्बर ऑफ कॉमर्श के सदस्यों, चिकित्सक और खेल से जुड़े लोगों ने बजट संगोष्ठी में अपने सुझावों और आकंक्षओं को रखा।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *