महिलाओं को राज्य में ही रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगे-नीरा यादव

रांची,5जनवरी। राज्य की मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ0 नीरा यादव ने कहा कि देश में कुटीर उद्य्नोगों की बहुलता थी और लोग स्वरोजगार से अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत करते थे। अंग्रेजों के आगमन से इस पर कुठाराघात हुआ और मशीनी युग आ गया। आज जो बेरोजगारी बढ़ रही है विशेष रुप से शिक्षित बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है, उसके मूल में कुटीर उद्य्नोगों का समाप्त हो जाना है। उन्होंने कहा कि हमारी बेटियां, हमारी बहनें जो रोजगार के लिए पलायन कर जाती हैं, उन्हें अपने राज्य में ही रोजगार का अवसर प्रदान कर रोकना है। राज्य के युवाओं को व्यवसायिक कौशल प्रदान कर रोजगार से नियोजित करने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। महिलाओं के लिए शिक्षा के क्षेत्र में अनेक महत्वपूर्ण कार्य सरकार कर रही है। जहाँ महिला डिग्री कॉलेज नहीं है वहाँ कॉलेज खोलना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने विकास भारती के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि यह संस्था राज्य के विकास में अहम भूमिका निभा रही है। कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर रही बच्चियों से उन्होंने आग्रह किया कि आप प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद स्वरोजगारी तो बनेंगे ही लेकिन आपका काम यहीं समाप्त नहीं हो जाता। आप अपने गांव, अपने आस-पास के बच्चे-बच्चियों को सरकार द्वारा चलाए जा रहे इस तरह के प्रशिक्षण के बारे में जागरुक करने का भी कार्य करेंगी। वे आज रांची में आज विकास भारती बिशुनपुर के राँची कार्यालय परिसर में मेकॉन लिमिटेड के निगमित सामाजिक उत्तरदायित्व कार्यक्रम के अन्तर्गत नवीनीकृत ब्यूटीशियन एवं सिलाई कटाई प्रशिक्षण केन्द्र का उद्घाटन मेकॉन के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक अतुल भट्ट द्वारा फीता काटकर किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में मानव संसाधन विकास विभाग, झारखण्ड सरकार की मंत्री डॉ0 नीरा यादव उपस्थित थीं। विशिष्ट अतिथि के रुप में संजीव कुमार, जी.एम. (सी.एस.आर.), मेकॉन; एच.के. भंजदेव, नोडल ऑफिसर, सी.एस.आर. उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *