शराब बेचने का फैसला अविलंब वापस ले सरकार – झाविमो

रांची,22फरवरी। राज्य सरकार द्वारा शराब बेचने के फैसले पर झाविमो ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। झाविमो के केन्द्रीय महासचिव खालीद खलील ने कहा है कि कितनी विडम्बना है कि एक ओर बिहार में मा0 नीतीश कुमार ने शराबबंदी लागू कर इतिहास रचते हुए नशामुक्त बिहार की ओर कदम बढ़ाया है तो वहीं दूसरी ओर झारखंड की भाजपा सरकार राजस्व उगाही के नाम पर खुद ही जनता को मदिरापान कराकर प्रदेश को नरक की ओर धकलने की नींव खोदने का काम कर रही है। कहना गलत नहीं होगा कि खनिज संपदा से संपन्न प्रदेश को सरकार मदिरा संपन्न प्रदेश बनाने पर आमादा है।
खालिद खलील ने कहा कि एक तरफ झारखंड सरकार पूर्ण नशामुक्त गांव होने पर एक लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा कर और करोड़ों रुपये के विज्ञापन छपवाकर प्रदेशवासियों को शराब का सेवन नहीं करने के लिए प्रेरित करती है। वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा झारखंड बिबरेज कॉर्पोरेशन के माध्यम से खुद शराब बेचने का फैसला उनकी दोहरी मानसिकता को दर्शाता है। झाविमो सरकार के इस जनविरोधी निर्णय का पूरजोर विरोध करती है। यह राज्य की सभी सवा तीन करोड़ जनता को प्रभावित करने वाला फैसला है। सरकार जनभावनाओं का सम्मान करते हुए झारखंड में शराबबंदी लागू करे। अगर ऐसा नहीं होता है तो झाविमो राज्यव्यापी आंदोलन करेगी।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *