मिट्टी निकालने के क्रम चाल धंसा,तीन की मौत

 

रांची, 12जून।धनबाद जिले में दूधिया मिट्टी खनन के दौरान टीला धंसने से तीन लोगों की मौत हो गयी, जबकि दो अन्य लोग घायल हो गये। मृतकों में दो महिलाएं और एक नाबालिग किशोर शामिल है। घायलों को इलाज के लिए पीएमसीएच में भर्त्ती कराया गया है।
घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार टुंडी के कटनिया पंचायत के खोरमो गांव के रहनेवाले 14 वर्षीय मंटू बास्की, 25 वर्षीय ललिता देवी, 20 वर्षीय मंगोली देवी, 17 वर्षीय सुगुम, 45 वर्षीय मंगोली देवी समेत एक दर्जन लोग दूधिया मिट्टी लेने झरिया के घनुडीह थाना क्षेत्र स्थित एनसी पैच पहुंचे थे। टुंडी के आदिवासी परिवार घरों को सफेद मिट्टी से रंगते हैं। इस मिट्टी की टुंडी में काफी मांग है। इसे कुछ लोग यहां से निकालकर बेचते भी हैं। यह एनसी पैच के आसपास ही पा जाती है। टुंडी व बलियापुर के गांवों से अक्सर ग्रामीण यहां आकर दूधिया मिट्टी की पहले भी खुदा करते रहे हैं। इस मिट्टी की खुदा दोपहर से ही टुंडी से आए ग्रामीण कर रहे थे। अचानक मिट्टी का बड़ा टीला जोरदार आवाज के साथ ढह गया। घटना में ललिता देवी, मंटू, मंगोली देवी, सुगुम आदि मिट्टी में दब गए। उनके साथ आए अन्य लोगों ने आननफानन सबको निकालने में पूरी ताकत लगा दी। लोगों ने पहले सुगुम और मंगोली देवी को घायलावस्था में निकाला पर, ललिता और मंटू गहरा में धंसे थे। इसलिए उनको निकालने में काफी देर हो ग । इधर टीला ढहने की सूचना कुछ समय में ही हर ओर फैल ग । सुचना पाकर धनबाद पुलिस के आलाधिकारियों समेत बीसीसीएल, आउटसोर्सिंग कंपनी के अधिकारी सहित अनेक लोग मौके पर पहुंचे। महिला सीआइएसएफ जवान भी थीं। तत्काल टीले की ढही मिट्टी हटाने का प्रयास शुरु किया गया और आधे घंटे में ही मंटू को निकालने में सफलता मिल ग । पर, ललिता को निकालने में करीब दो घंटे का वक्त लगा। मिट्टी में दबने से उनकी मौत हो चुकी थी वहीं खोरमो निवासी मंगोली देवी को उपचार के लिए पीएमसीएच भेजा गया जहां उसने भी दम तोड़ दिया। एक अन्य मंगोली देवी और एक महिला का पीएमसीएच में उपचार चल रहा है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *