सावन की दूसरी सोमवारी पर शिवालयों में उमड़ी भीड़

रांची,17जुलाई।पवित्र सावन महीने की दूसरी सोमवारी पर आज राज्यभर के शिवालयों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। राजधानी रांची स्थित पहाड़ी मंदिर के अलावा अन्य शिव मंदिरों में भी सुबह से ही बाबा भोलेनाथ की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। पहाड़ी मंदिर, बाबा बैद्यनाथ धाम, वासुकीनाथधाम, आम्रेश्वरधाम समेत कई मंदिरों में बड़ी संख्या में श्रद्धालु रात से मंदिरों के बाहर भक्त लाइन में खड़े नजर आये।
देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ धामंदिर में सावन की दूसरी सोमवारी पर कावरिया भक्तो की भरी भीड़ उमड़ पड़ी । सुबह में करीब एक लाख से ज्यादा कावरिया जलार्पण केलिए १२ किमी लम्बी क़तर में लगे नजर आये। देवघर में भीड़ का आलम यह था कि व्यवस्था बनाये रखने के लिए बीती रात से ही भक्तो की लंबी कतार १२ किमी दूर कुमैथा स्टेडियम तक पहुंच गया और जैसे ही प्रातः पौने चार बजे के बाद बाबा की प्रातःकालीन पूजा के बाद जलार्पण के लिए मंदिर का पैट खुला कांवरियों का अंतहीन सिलसिला बाबा मंदिर में जलार्पण के लिए शुरू हो गया।दिन चढ़ने के साथ साथ भीड़ और भी बढ़ती जा रही है। प्रशससन का अनुमान है की भक्तो की संख्या आज शाम तक डेढ़ लाख से पार कर जाएगी। भीड़ को देखते हुए संथाल परगना के डीआईजी, अखिलेश झा,देवघर के उपयुक्त राहुल सिन्हा ,एसपी ए विजय लक्ष्मी अपनी पूरी टीम के साथ बाबा मंदिर, रुट लाइन और टेल पॉइंट पर भीड़ नियंत्रण और व्यवस्था बनाये रखने केलिए अधिकारों को निर्देश दे रहे है और खुद स्थिति पर पैनी नजर बनाये हुए है।
सावन की पहली सोमवारी की अपेक्षा आज भीड़ दुगुनी लग रही है। जलार्पण केलिए आज प्रशसन और श्राइन बोर्ड ने विशेष व्यवस्था की है। भीड़ को देखते हुए वही अरघा को तेजी से संचालित किया गया है, इसके लिए भी एक किलोमीटर लम्बी लाइन कतार देखी गयी। मंदिर में जलार्पण के लिए भी लम्बी लाइन है। भक्तो को कटिबद्ध तरीके से जलार्पण कराया जा रहा है। देवघर के पवित्र सरोवर शिवगंगा में भी सुरक्षा के विशेष प्रबंध किये गए है, क्योंकि कांवरिये सुल्तानगंज से 105 किमी पैदल यात्रा का अंतिम पड़ाव यहीं होता है और भक्त कावर से गंगा जल का पात्र निकल कर अपने हाथो से संकल्प करने के पूर्व शिवगंगा सरोवर में स्नान जरूर करते है।इस सरोवर की गहराई ज्यादा होने के कारण स्नान करने गए भक्तो के डूबने का बहुत खतरा रहता है, इसलिए प्रशासन ने एतिहातन कई व्यवस्थाएं सुरक्षा के लिए की है। शिवगंगा घाट पर एनडीआरएफ की एक टुकड़ी तीन मोटर बोट , लाइफ जैकेट और डीप डाइवर आदि के साथ मुस्तैद है। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ के जवान तैयार नजर आ रहे है। एनडीआरएफ टीम के सदस्य सरोवर में बोट के साथ गश्त भी लगा रहे है ओर निगरानी के लिए कई आधुनिक उपकरणों का भी सहयोग लिया जा रहा है।
दुमका के वासुकीनाथ धाम मंदिर में भी सुबह से झमाझम हो रही बारिश के बीच श्रद्धालु जलार्पण कर रहे है। पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल भी पूरा मेला क्षेत्र में अपनी नजर बनाये हुए है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *