प्रज्ञा केंद्रों को नये पंचायत भवनों में शिफ्ट करें-सीएस

रांची,18जुलाई।  मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने प्रज्ञा केंद्रों को नये पंचायत भवनों में शिफ्ट करने का निर्देश दिया है। मुख्य सचिव आज पंचायत राज विभाग की समीक्षा कर रही थीं।  उन्होंने सभी पंचायत स्वयंसेवकों के निबंधन का कार्य प्रखंड स्तर पर तीन दिनों का कैंप आयोजित करने का निर्देश दिया। मुख्य सचिव ने स्वयंसेवकों के मानदेय का भुगतान डीबीटी से 25 जुलाई तक सुनिश्चित करने और पंचायत भवनों के निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया। बैठक के दौरान पंचायत राज विभाग की ओर से यह जानकारी दी गयी कि राज्य में तीन हजार आठ सौ से अधिक पंचायत भवनों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और इस महीने के अंत तक एक सौ तैतीस नये भवन का निर्माण कार्य भी पूरा हो जाएगा।उन्होंने कहा कि जिलों से प्राप्त प्रतिवेदन के अनुसार अब तक 50 प्रतिशत ही भुगतान का कार्य पूर्ण हुआ है। साथ ही निदेशित किया गया कि प्रखंड स्तर पर पंचायत स्वयं सेवकों के समन्वय हेतु प्रत्येक माह बैठक का आयोजन करें ताकि योजनाओं के क्रियान्वयन का मार्ग प्रशस्त किया जा सके। मुख्य सचिव ने पंचायत भवनों के निर्माण की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि पंचायत भवनों के निर्माण कार्य में तेजी लायें जिन भवनों के निर्माण का कार्य शिथिल है, उन ठेकेदारों को डिबार करने की कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि जिन भवनों का निर्माण को लेकर अदालत में वाद प्रक्रियाधीन है, उसमें उपायुक्त स्तर पर बात कर निर्माण कार्य की प्रक्रिया प्रारंभ की जाय। साथ ही निदेश दिया गया कि ऐसे भवन जिनका निर्माण खनन क्षेत्र में किया जाना है तथा खनन कंपनी की ओर से एनओसी प्राप्त नहीं हुई है, उनका विस्तृत प्रतिवेदन विभाग को भेजें।   समीक्षा के क्रम में मुख्य सचिव ने निदेश दिया है कि जिन पंचायत भवनों का निर्माण कार्य पूर्ण किया जा चुका है, उनमें प्रज्ञा केन्द्र को शिफ्ट करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाय ताकि लोगों को प्रमाण पत्र बनाने के लिये प्रखंड व अन्य स्थानों पर चक्कर न लगाने पड़ें।  साथ ही निदेश दिया कि पंचायत सचिवालयों में वीओ एवं बीसी (बिजनेस कॉरेस्पॉडेंट) को भी स्थान दें।   विभाग द्वारा बताया गया कि अब तक कुल 3826 पंचायत भवनो का निर्माण कार्य पूर्ण किया जा चुका है तथा 133 भवन जुलाई माह के अंत तक बनकर तैयार हो जायेंगे। साथ ही एनआईसी के माध्यम से संकलित डाटा का ऑनलाईन लिंक तैयार किया जा चुका है तथा ऑनलाईन लिंक में उपलब्ध प्रविष्टियों की जांच जिला स्तर पर प्रारंभ कर दी गई है। वहीं द्वितीय चरण जाति, आवासीय, एलईडी बल्व, कौशल विकास, शौचालय आदि के सर्वेक्षण संबंधी जिले के मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण सर्ड हेहल, रांची में पूर्ण किया जा चुका है। बैठक में अपर मुख्य सचिव ग्रामीण विकास विभाग एन एन सिन्हा, सचिव पंचायतीराज विभाग  विनय कुमार चौबे सहित कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *