धर्म स्वतंत्र व भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक विस से पारित

रांची,12अगस्त। झारखंड विधानसभा में आज झारखंड धर्म स्वतंत्र विधेयक 2017 और भूमि अर्जन, पुनर्वास और पुनर्व्यस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता का अधिकार (झारखंड संशोधन)विधेयक 2017 समेत चार विधायकों को मंजूरी प्रदान कर दी। इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांप ने पांच दिवसीय मॉनसून सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा की।
विधानसभा में आज भोजनावकाश के बाद झारखंड खनिज क्षेत्र विकास प्राधिकार संशोधन विधेयक 2017 और झारखंड मूल्यवर्द्धित कर संशोधन विधेयक 2017 को भी मंजूरी प्रदान कर दी गयी। जबकि झारखंड धर्म स्वतंत्र विधेयक को प्रवर समिति के विचारार्थ भेजने के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा के स्टीफन मरांडी का आग्रह किया , परंतु सभा ने इसे प्रवर समिति को भेजे जाने के आग्रह को खारिज करते हुए बिना कोई संशोधन पारित कर दिया।  भूमि अर्जन, पुनर्वास और पुनर्व्यस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता का अधिकार (झारखंड संशोधन)विधेयक 2017 को भी प्रवर समिति को सौंपे जाने के लिए झामुमो, कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल के 14 सदस्यों की ओर से प्रस्ताव आया, लेकिन सदन नेइसे खारिज करते हुए इस विधेयक को भी पारित कर दिया। हालांकि इससे नाराज झारखंड मुक्ति मोर्चा विधायकों ने सदन का बहिष्कार किया, जबकि कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों के सदस्य अपने स्थान पर बैठे रहे।
पांच दिवसीय मॉनसून सत्र के दौरान इस बार सात विधेयकों को मंजूरी प्रदान की गयी, जबकि मेडिकल प्रोटेक्शन बिल को विचार के लिए प्रवर समिति को सौंप दिया गया है। सत्र के दौरान पहले दो दिनों तक सदन में प्रश्नोत्तरकाल की कार्यवाही बाधित रही, लेकिन चौथे और पांचवें दिन सदन मेंकई अल्पसूचित और तारांकित प्रश्नों के अलावा ध्यानाकर्षण सूचना पर सरकार की ओर से जवाब आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *