बांग्लादेशी घुसपैठिए को चिन्हित कर वापस बांग्लादेश भेजेंःमुख्यमंत्री

रांची,13अगस्त। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि बांग्लादेशी घुसपैठिए राजनीतिक संरक्षण और भ्रष्ट अफसरों से मिलकर राज्य का पहचान पत्र बना लेते हैं, उन्हें चिन्हित कर वापस बांग्लादेश भेंजे। मुख्यमंत्री आज रांची में झारखंड पुलिस अलंकरण परेड समारोह 2017 को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने झारखंड एकीकृत डायल-100 सेवा का उदघाटन कर खुद 100 नंबर पर पहला फोन किया। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी सही तरीके से जनता को जवाब दें और मुस्तैदी से काम करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में जल्द ही पुलिस में 8000 भर्त्तियां निकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस जनप्रतिनिधियों का सम्मान करें और बिचौलियों और दलालों को थाने से खात्मा करें। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस आदिवासियों से संवाद स्थापित करें, क्योंकि जन सहयोग से ही सुशासन संभव है। उन्होंने कहा कि झारखंड में भ्रष्टचार की कोई गुंजाइश नहीं है, ईमानदारी से कमाएंगे, तो रोटी से दूध निकलेगा और भ्रष्टाचार के पैसे की रोटी से आग और खून निकलता है। रघुवर दास ने कहा कि पुलिस जैसे अमीरों के साथ पेश आती है, वैसे ही गरीबों को भी सम्मान दें। उन्होंने कहा कि संगठित अपराध पर कैसे रोक लगायी जाए, इसके लिए लगातार मॉनिटरिंग की जरुरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब एक पिता अपनी बेटी को स्कूल भेजे, तो उसे ये यकीन होना चाहिए कि वह सकुशल वापस सुरक्षित घर लौट आएगी, पुलिस ये भरोसा जनता के बीच बनाये। उन्होंने सहायक पुलिस में भर्त्ती युवाओं से अपनी की कि वे अपनी जिम्मेवारी ईमानदारी से निभाए, तीन साल उन्हें पुलिस की नौकरी में प्राथमिकता दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड पुलिस, सीआरपीएफ और कोबरा दस्ते की टीम ने पिछले ढाई साल में नक्सलवाद की कमर तोड़ी है, माओवादी हिंसा में 50 फीसदी की कमी आयी है और नक्सलियों की कमाई पर नजर रखने की जरुरत है।
इस मौके पर 56 अधिकारियों को केंद्र सरकार द्वारा सम्मान पदक मिलने पर बधाई भी दी। साथ ही झारखंड पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन द्वारा जिलों में बनाये गये नवनिर्मित 36भवनों का भी मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन उदघाटन किया। इस मौके पर मुख्य सचिव राजबाला वर्मा और पुलिस महानिदेशक डी.के.पांडेय समेत अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *