कृषि क्षेत्र में देशभर में सबसे अधिक व्यय झारखंड में :मंत्री

 

1000 दिन के कार्यकाल की उपलब्धियां गिनायी
रांची,4सितंबर। झारखंड में मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में बनी एनडीए सरकार आगामी 22 सितंबर को 1000 दिन का कार्यकाल पूरा करने वाली है। राज्य सरकार ने 1000 दिन के कार्यकाल की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए बड़े अभियान की शुरुआत की है। इसी के तहत सभी ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने आज अपने विभाग की उपलब्धियों का ब्यौरा देते हुए बताया कि झारखंड में कृषि प्रक्षेत्र में देशभर में सबसे अधिक राशि खर्च की जा रही है। उन्होंने बताया कि विभाग का प्रभार संभालने के बाद अब तक पौने चार हजार से अधिक पंचायत भवनों का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है। इसके साथ ही राज्य में पंचायत स्वायत्तशाषी परिषद् का गठन किया गया है। परिषद को मजबूती प्रदान करने के लिये सभी जिलों में कोऑर्डिनेटर का चयन किया जा रहा है। वहीं 17500 से अधिक पंचायत सेवक बनाये गए हैं जिससे दूर दराज के इलाकों में रहने वाले ग्रामीणों को आय, जाति और स्थानीयता सम्बन्धी प्रमाणपत्र बनवाने में कोई असुविधा न हो।
नीलकंठ सिंह मुंडा ने बताया कि राज्य में पहली बार बड़े पैमाने पर वर्षा जल प्रबंधन के लिए 1.74लाख डोभा (छोटा तालाब) का निर्माण कराया गया है जबकि 103421 डोभा निर्माणाधीन है। उन्होंने बताया कि डोभा निर्माण से जहां सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हुई, वहीं जलस्तर पर भी ऊपर आया है। विभागीय उपलब्धियों का ब्यौरा बताते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2014-15 से बजटीय उपबंध में 44 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गयी, वहीं पिछले वित्तीय वर्ष में 92प्रतिशत राशि खर्च की गयी। उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत 1000 दिन में 1600लाख मानव दिवस का सृजन हुआ और 1.55लाख योजनाएं पूर्ण की गयी है। वहीं इस अवधि में 6422किमी ग्रामीण पथ और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से 6780किमी सड़क तथा मुख्यमंत्री ग्राम सेतु योजना के तहत 340पुल का निर्माण किया गया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *