चंदवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बीपीएम का अनुबंध खत्म करेः सुनील बर्णवाल

जनसंवाद केंद्र में समीक्षा बैठक
रांची,12सितंबर। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, चंदवा में अनुबंध पर कार्यरत बीपीएम (प्रखण्ड कार्यक्रम प्रबन्धक) को कार्य में लापरवाही के आरोप में उनका अनुबंध समाप्त करने का निर्देश मुख्यमंत्री के सचिव सुनील कुमार बर्णवाल ने मंगलवार को दिया। उन्होंने स्वास्थ्य केंद्र, चंदवा में लापरवाही की शिकायतों की जांच उपायुक्त द्वारा एसडीओ से करवाने के बाद सिविल सर्जन द्वारा दोबारा जांच कराने पर सवाल उठाया, कहा कि यह मामले को उलझाने की प्रवृति है, इसे बंद करें। एसडीओ की जांच रिपोर्ट के आधार पर उपायुक्त द्वारा स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सक से पूछे गए स्पष्टीकरण का जवाब नहीं देने को गंभीरता से लेते हुए उनसे एक सप्ताह में स्पष्टीकरण लेने को कहा। मामले की दोबारा जांच के संबंध में सिविल सर्जन से भी स्पष्टीकरण तलब किया गया। नोडल पदाधिकारी को स्पष्टीकरण के आधार पर कार्रवा सुनिश्चित करते हुए एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा गया। मुख्यमंत्री के सचिव सूचना भवन में मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र में आईं शिकायतों के निष्पादन की समीक्षा कर रहे थे। कुल 12 शिकायतों की समीक्षा की ग । इस दौरान भवन निर्माण और परिवहन विभाग में लंबित शिकायतों की भी समीक्षा की गयी।
राशि गबन मामले में पंचायत सेवक को निलंबित करने का आदेश
मुख्यमंत्री के सचिव ने सरायकेला-खारसावां की टिकर पंचायत में मुखिया और पंचायत सेवक की मिलीभगत से सोलर लाइट लगाने में किए गए घपले में पंचायत सेवक पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए निलंबित करने का आदेश दिया। मुखिया पर कानूनी कार्रवा के लिए पंचायती राज विभाग को प्रतिवेदन भेजने का निदेश दिया। साथ ही सोलर लाइट सप्ला करनेवाली कंपनी को ब्लैक लिस्टेड करते हुए इसकी सूचना सभी पंचायतों को देने को कहा।
जालसाजी कर टेंडर हासिल ठेकेदार पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश
दूसरी ओर रांची के मोरहाबादी में ट्राइबल डेवलपमेंट सोसायटी के प्रशासनिक और पुस्तकालय भवन की मरम्मत का टेंडर जालसाजी कर हासिल करनेवाले ठेकेदार पर प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया गया। साथ ही टेंडर को तत्काल रद्द नहीं करने पर कार्यपालक अभियंता को निलंबित करने का निर्देश दिया। इसकी विस्तृत रिपोर्ट 15 दिन में देने को कहा गया।
मुख्यमंत्री जनसंवाद में आईं 12 शिकायतों की समीक्षा
गढ़वा के कांडी में उत्क्रमित मध्य विद्य्नालय, घोड़दाग में शौचालय की वास्तविक स्थिति को खुद जिला शिक्षा अधीक्षक को वहां जाकर देखने का निदेश दिया गया। जरुरत होने पर नरेगा के तहत और शौचालय निर्माण कराने को कहा गया। उस स्कूल में नामांकित छात्रों की तुलना में कम उपस्थिति को गंभीरता से लेते हुए उसके कारणों की पड़ताल करते हुए दोषियों पर कार्रवा की अनुशंसा करने को कहा गया। गिरिडीह के उप स्वास्थ्य केंद्र, नगरी को एएनएम द्वारा महीने में सिर्फ दो दिन खोलने की शिकायत पर प्रभारी सिविल सर्जन को वहां जाकर जांच करने और रिपोर्ट देने को कहा गया।
पाकुड़ के महेशपुर से रोहतक जाने के बाद गायब तीन लोगों की खोजबीन तेज करते हुए पुलिस दल को रोहतक भेजने का निदेश दिया गया। मुख्यमंत्री के सचिव ने इस मामले को संवेदनशील बन कर निराकरण करने को कहा। उन्होंने कहा कि अनुसंधान तेज करें और 15 दिन के भीतर रिजल्ट दें। तीन लोगों की जिंदगी का सवाल है, इस मसले को गंभीरता से लें। वहीं, धनबाद के निरसा में रैयती जमीन पर कब्जा कर सड़क निर्माण के एक मामले में मजिस्ट्रेट, पुलिस अधिकारी और अंचलाधिकारी की टीम बनाकर जांच करने का आदेश दिया गया। साथ ही कार्रवा करते हुए मंतव्य के साथ 15 दिन में रिपोर्ट देने को कहा गया। पूर्वी सिंहभूम के जुगसला में सरकारी जमीन पर से दो दिन के भीतर अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया गया। बोकारो के चास में सरकारी तालाब पर से यथाशीघ्र अतिक्रमण हटाने की कार्रवा करने को कहा गया। वहीं पाकुड़ के झिकरहती में सड़क का अतिक्रमण कर घर बना लेने के मामले में अतिक्रमण हटाते हुए उसकी तस्वीर के साथ रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया। लोहरदगा के कुड़ू में 2007 से अधूरी सड़क का निर्माण एक सप्ताह के भीतर शुरु करने का आदेश दिया गया। लोहरदगा में ही चुनाव के दौरान ट्रक का अधिग्रहण कर उपयोग के बाद भी उसके भुगतान में विलंब को गंभीर बात बताते हुए कहा गया कि 15 दिन के भीतर उसका भुगतान सुनिश्चत करें।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *