एसीबी का 100ट्रैप बने बीडीओ अशोक कुमार सिन्हा

रांची,13सितंबर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, पलामू की टीम ने आज गढ़वा जिले के विशुनपुरा प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी अशोक कुमार सिन्हा को 10 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। एसीबी के लिए वर्ष 2017 में यह 100वां ट्रैप केस था और एसीबी पलामू को यह 16वीं सफलता मिली।
एसीबी के समक्ष विशुनपुरा प्रखंड के चितरी गांव निवासी लाल बहादुर सिंह ने लिखित शिकायत दर्ज करायी थी कि उन्हें ग्राम सभा में आमसभा से पास कर बकरी रोड के निर्माण का कार्य मिला था, उस कार्य को प्रारंभ करने की स्वीकृति देने के लिए बीडीओ अशोक कुमार सिन्हा द्वारा 10 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की जा रही है। परिवादी रिश्वत देना नहीं चाहते थे, आवेदन का सत्यापन कराने के बाद आरोप को सही पाया गया और एसीबी ने आज अशोक कुमार को 10 हजार रुपये लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।
एसीबी द्वारा इस वर्ष 100 ट्रैप मामलों में 110 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और इनके पास से 8.53लाख रुपये की राशि भी जब्त की गयी है। वर्ष 2007 से लेकर अब तक एसीबी को एक वर्ष में सबसे अधिक सफलता मिली है। वर्ष 2007 में जहां सिर्फ 15 ट्रैप किये गये, वर्ष 2008 में 24, वर्ष 2009 में 16, वर्ष 2010 में 43, वर्ष 2011 में 13, वर्ष 2012 में 29, वर्ष 2013 में 26, वर्ष 2014 में 31, वर्ष 2015 में 54 और वर्ष 2016 में 88 ट्रैप कांड दर्ज किये गये थे।
इनमें से सबसे अधिक 30 ट्रैप केस भूमि एवं राजस्व विभाग से संबंधित है, जबकि ग्रामीण विकास विभाग के 26 ट्रैप कांड के अलावा शिक्षा विभाग में 3, पुलिस विभाग में 9, कार्मिक में 3, स्वास्थ्य में 3, प्रदूषण विभाग में 2, वित्त विभाग में 1, विधि विभाग में 2, लघु सिंचाई में 1, विद्य्नुत विभाग में 3, परिवहन विभाग में 1, पथ निर्माण विभाग में 1, जल संसाधन विभाग में 3 , शिक्षा विभाग में 4, पशुपालन में 3, कृषि में 1, वन विभाग में 2, नगर विकास व पंचायती राज में 10 और 2 प्राइवेट मामले में ट्रैप कांड को अंजाम दिया गया। इनमें से सबसे अधिक राशि के साथ जिन ट्रैप कांड को अंजाम दिया गया, उनमें हजारीबा एसीबी द्वारा विभाग के सहायक वन संरक्षक प्रमोद कुमार अग्रवाल को 40 हजार रुपये की राशि के साथ गिरफ्तार किया गया।

 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *