राष्ट्रपति ने पर 3455.89करोड़ की योजनाओं की दी सौगात

झारखंड स्थापना दिवस पर नियुक्ति पत्र व परिसंपत्तियों का वितरण
रांची,15नवंबर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि झारखंड में विकास की असीम संभावनाएं हैं। यहां पर्यटन, उद्य्नोग और कृषि के क्षेत्र में विकास के जरिये झारखंड देश का आग्रणी राज्य बन सकता है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद झारखंड स्थापना दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयेजित मुख्य समारोह को संबोधित कर रहे थे। स्थापना दिवस समारोह के मौके पर राष्ट्रपति ने झारखंड को 3455.89 करोड़ की योजनाओं की सौगात दी।
राष्ट्रपति ने कहा कि किसी राज्य का स्थापना दिवस और किसी महान शख्सियत का जन्मदिन का उत्सव एक साथ होना खुशी की बात है। उन्होंने राज्यवासियों को 17वें वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जिस दूरदर्शिता के साथ अलग झारखंड राज्य गठन का निर्णय लिया, उस निर्णय का वे सम्मान करते है। उन्होंने शहीद बिरसा मुंडा की शहादत को याद करते हुए कहा कि 25वर्षां की कम आयु में उन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी कुर्बानी दी।
राष्ट्रपति ने मोमेंटम झारखंड के आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम से झारखंड के बारे में देश-दुनिया के लोगों की सोच बदली है और आने वाले समय में निवेश में बढ़ोत्तरी होगी और विकास को लेकर सकारात्मक असर पड़ेगा। उन्होने कहा कि आज स्थापना दिवस के मौके पर जिन योजनाओं की शुरुआत हो रही है, उससे आने वाले समय में हर व्यक्ति को फायदा मिलेगा।
राष्ट्रपति ने झारखंड सरकार की पीठ थपथपाते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा शुरु शहीद ग्राम विकास योजना एक सराहनीय कदम है। उन्होंने राज्य की महिलाओं के कामकाज की भी प्रशंसा करते हुए कहा कि 4.82 लाख महिलाओं को स्वयं सहायता समूह से जोड़ कर उनके आर्थिक सशक्तीकरण का प्रयास किया जा रहा है।
स्थापना दिवस समारोह के दौरान राष्ट्रपति ने 1500 करोड़ रुपये की जोहार योजना, 636 करोड़ की मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, 290 करोड़ रुपये की 108 एंबुलेंस योजना की शुरुआत की। इसके अलावा 464.90 करोड़ रुपये की राजभवन से बिरसा चौक तक स्मार्ट सड़क का शिलान्यास, 294.04 करोड़ की लागत से बनने वाले हरमू फ्लाईओवर, 181.92करोड़ की लागत से बनने वाले कांटाटोली फ्लाईओवर, 89.83करोड़ रुपये की एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक स्मार्ट सड़क का शिलान्यास किया। इन योजनाओं पर कुल 3455.89 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके अलावा चिकित्सकों, प्लस टू शिक्षकों, विश्वविद्य्नालय के नवनियुक्त प्राचार्य, पंचायत स्वशासी परिष्ज्ञद के अंतर्गत प्रखंड समन्वयक और नवनियुक्त आरक्षियों को नियुक्ति पत्र सौंपा गया। इसमें से 516 विशेषज्ञ एवं आयुष चिकित्सा, 362 प्लस टू शिक्षक, 263 प्रखंड समन्वयक, 24 विश्वविद्य्नालय प्राचार्य और अनुकंपा पर नियुक्त दस पुलिसकर्मी शामिल है।
इस अवसर पर 3324.15करोड़ रुपये की परिसंपत्तियों का भी वितरण किया गया। जिसके तहत 3.08लाख परिवारों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस चूल्हा एवं कनेक्शन, 1.26लाख लाभुकों को मुद्रा योजना के तहत राशि का वितरण, 1.25लाख किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड, 54 हजार परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना, 35 हजार लाभुकों को आजीविका मिशन अंतर्गत सखी मंडल को बैंक ऋण का वितरण, 29019परिवारों को फसल बीमा राशि का वितरण, 24936परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान, 10हजार को पंपसेट का वितरण किया गया, 7711 मानकी मुंंडा, ग्राम प्रधान व ई-विद्य्नावाहिनी योजना के तहत शिक्षकों को टैब का वितरण और 254 लाभुकों को 90 प्रतिशत अनुदान पर महिलाओं को दुधारु मवेशी का वितरण किया गया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *