मेडिकल में धांधली पर अंकुश के लिए जल्द ही बिल जाएंगे-जेपी नड्डा

रांची,30नवंबर ।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा है कि सरकार मेडिकल में धांधली पर अंकुश लगाने के लिए जल्द ही संसद में एक विधेयक लाएगी, जिससे मेडिकल में धांधली की सभी आशंकाएं समाप्त हो सकेगी।
श्री नड्डा ने आज रांची में अखिल भारतीय विद्य्नार्थी परिषद(एबीवीपी) के 63वें राष्ट्रीय वार्षिक अधिवेशन में कहा कि मेडिकल कॉलेजों में नामांकन में भ्रष्टाचार और अनियमितताओं पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने देशभर में राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) की व्यवस्था लागू की है, इससे गरीब विद्य्नार्थियों को भी मेडिकल में प्रवेश मिल सकेगा,इससे पहले मेडिकल कॉलेजों में नामांकन के लिए क्या व्यवस्था थी, सभी को इसकी जानकारी है।
श्री नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्ट्राचार मुक्त देश बनाने का निर्णय लिया है और इसी के तहत केंद्र सरकार क कठोर कदम उठा रही है। उन्होंने बताया कि जन औषधि केंद्रों में माध्यम से देशभर के अस्पतालों में जेनकरिक दवाएं उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है, इससे क ब्रांडेड दवाओं में कम कीमत पर अस्पताल में पहुंचाने में सफलता मिली है।
श्री नड्डा ने एबीवीपी कार्यकर्त्ताओं से अपील की कि वे टीकाकरण अभियान में स्वयंसेवक की भूमिका निभाएं और जिन बच्चों को टीका नहीं लगा है, उनके अभिभावकों को जागरुक करें और टीकाकरण के लक्ष्य को 90 फीसदी पहुंचाने में सहयोग करें, अभी देश में प्रतिवर्ष 10लाख बच्चे डायरिया के कारण अस्पताल में भर्त्ती होते है, जबकि 13लाख बच्चों को निमोनिया जैसी गंभीर गंभीर बीमारी हो जाती है और दो लाख बच्चों की मौत हो जाती है, इसलिए सभी बच्चों का टीकाकरण जरुरी है।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने जब विमुद्रीकरण लागू किया, तो पूरे देश की जनता ने साथ दिया, जबकि जीएसटी को लेकर विपक्षी पार्टियों द्वारा भ्रम की स्थिति उत्पन्न करने की कोशिश की गयी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिये गये क कठोर फैसलों की वजह से आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है ।
श्री नड्डा ने कहा कि अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर रैकिंग देने वाली दुनिया की सबसे विश्वसनीय एजेंसियों में एक मेडिज ने भी भारत के रैकिंग में सुधार किया है और माना है कि इन फैसलों से आने वाले समय में भारतीय अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा।
उन्होंने युवाओं से अपील की कि युवा बिना पतवार की नाव नहीं बने, सही दिशा में चलें और अपनी पहचान तथा शक्ति को समझने की कोशिश करें, अंधी दौड़ में शामिल नहीं हो और अपनी ताकत को पहचान कर मां भारती की सेवा में जुट जाएं। इस कार्यक्रम को ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत्त और परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नागेश ठाकुर ने भी संबोधित किया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *