विहिप-बजरंग दल ने मनाया शौर्य दिवस, मुस्लिम संगठनों का विरोध प्रदर्शन

रांची,6दिसंबर। बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर राजधानी रांची में हिन्दू संगठनों ने जहां शौर्य दिवस के रुप में मनाया, वहीं मुस्लिम संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया। दूसरी तरफ वाम दलों ने आज काला दिवस मनाया और लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की मांग की।
विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्त्ताओं ने आज रांची के आरोग्य भवन में रजत वर्ष सह शौर्य दिवस के रुप में मनाया। इस मौके पर विहिप के प्रांत संगठन मंत्री ने कहा कि 6 दिसंबर को पूरे देशम ें शौर्य दिवस मनाया जाता है। यह दिन विदेशी हमलावरों ने देशम ें हमला कर मंदिर को तोड़ कर विजय चिन्ह के रुप में मनाया जाता है, उस दिन अयोध्या में कार सेवकों ने रामलला का एक छोटा सा मंदिर बनाया था।
इधर, मुस्लिम संगठनों ने सैनिक मा ार्े ट के निकट विरोध प्रदर्शन किया। भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथि पर कई संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया।इस मौके पर नदीम खान ने बताया कि बाबरी मस्जिद विध्वंस के दोषियों को सजा दी जाए और देश में हो रही सांप्रदायिक घटनाओं और असमाजिक तत्वों के खिलाफ लगाम लगे।
दूसरी तरफ रांची में वाम दलों ने काला दिवस मनाया और विरोध मार्च निकाला। वाम दलों ने आरोप लगाया कि देश की साझा संस्कृति पर हमला करने की कोशिश की गयी है, लेकिन 25वर्ष बाद भी हमला करने की साजिशकर्त्ताओं को सजा नहीं मिल पायी है। माले के राज्य सचिव ने लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की मांग की। इस मौके पर वाम दलों के प्रकाश विप्लव, सुफल महतो, सुखनाथ लोहरा, प्रफुल्ल, महेंद्र पाठक, राजेंद्र प्रसाद यादव, इफ्तेखार महमूद, अजय सिंह समेत कई नेता मौजूद थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *