मुख्य सचिव व डीजीपी पर गंभीर आरोप, पद से हटाकर न्यायिक जांच होःअजय कुमार

रांची,13जनवरी।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार ने कहा है कि राज्य के पुलिस- प्रशासनिक महकमे के दोनों शीर्ष पद पर बैठे पदाधिकारी गंभीर आरोप से घिर गये है, इसलिए इन्हें पद से हटाया जाना चाहिए और उनपर लगे आरोपों की न्यायिक जांच होनी चाहिए।
प्रदेश अध्यक्ष ने आज रांची स्थित पार्टी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्य सचिव राजबाला वर्मा और पुलिस महानिदेशक डी.के. पांडेय के विरुद्ध गंभीर आरोप लगे है। उन्होंने कहा कि   ये दोनों व्यक्ति एक प्रशासनिक नेतृत्व के लिए जिम्मेवार है तो दूसरा कानून व्यवस्था और आम लोगों की सुरक्षा के लिए जिम्मेवार है। मुख्य सचिव और डीजीपी दोनों राज्य के दशा और दिशा तय करने वाले पद है। एक सजग राजनैतिक विपक्ष होने के नाते कांग्रेस पार्टी का यह मानना है कि आरोपित पदाधिकारियों के जिम्मे राज्य के संचालन की व्यवस्था कतई नहीं होनी चाहिए और इन दोनों शीर्ष पदों पर बैठे लोगों के उपर अब जिस प्रकार के संगीन आरोप लगे हैं। वैसे व्यक्ति को तत्काल राज्य सरकार अपने पद से हटाये और इन पर लगे सारे आरोपों की न्यायिक जांच करायी जाए।
डॉ. अजय कुमार ने बताया डीजी पर बकोरिया में फर्जी मुठभेड़ कराने,  इस मामले को दबावे के लिए अधिकारियों का तबादला करने, थानेदार को धमकी देने समेत कई अन्य गंभीर आरोप है।  जबकि मुख्य सचिव राजबाला वर्मा पर मोमेंटम झारखंड के दौरान वित्तीय अनियमितता बरतने, चारा घोटाले मामले में सीबीआई की तरफ से 22 बार से ज्यादा नोटिस का जवाब नहीं देने, पीडब्ल्यूडी सचिव रहते सड़क निर्माण में फर्जीवाड़ा, मैनहर्ट में अनियमितता समेत कई आरोप लगे है।   इस अवसर पर मीडिया प्रभारी प्रदीप तुलस्यान, प्रवक्ता राजेश ठाकुर, राजीव रंजन प्रसाद, लाल किशोर नाथ शाहदेव, नेली नाथन, अभिलाष साहु उपस्थित थे।
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *