पत्थलगड़ी में राष्ट्रविरोधी शक्तियां-आरएसएस

रांची,13मार्च। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने झारखंड में में पत्थलगड़ी की घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए इस कार्य में देश विरोधी शक्तियों की संलिप्तता की आशंका व्यक्त की।
संघ के झारखंड के सह प्रांत कार्यवाह राकेश लाल ने आज रांची में स्थित आरएसएस कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि कुछ राष्ट्र विरोधी ताकतें पत्थलगड़ी की आड़ में संविधान की गलत व्याख्या कर रही हैं। उन्होंने कहा कि पत्थलगड़ी की आड़ में भोले-भाले ग्रामीणों को बहकाना, नशीले पदार्थों की खेती कराना और प्रशासन को रोकने की कोशिश की जा रही है, वहीं राज्य सरकार द्वारा जबरन धर्म परिवर्त्तन पर रोक लगाने को लेकर लाये गये विधेयक भी चर्च और धर्मांतरण में लगे संस्थाओं में खलबली है।

उन्होंने महापुरुषों की मूर्तियां तोड़ने की घटना की निंदा की, लेकिन जबरन किसी की जमीन पर मूर्तियां लगाने को गलत ठहराते हुए कहा कि अगर इस तरह की प्रतिमा तोड़ी जाती है, तो वो सही है। संघ के प्रांत सह कार्यवाह ने बताया कि हाल के वर्षों में संघ का काम बढ़ा है और अब एलिट कहे जाने वाले लोगों का भी झुकाव संघ के प्रति हो गया है, केवल झारखंड में एक वर्ष के अंदर 2915 लोग संघ से जुड़े हैं। देश स्तर पर बात की जाए तो 95 प्रतिशत जिलों में संघ से लोग जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि देश की क भाषाओं का अस्तिव संकट में है, ऐसे में संघ का मानना है कि देश की विविध भाषाओं और बोलियों के संरक्षण और संवर्धन के लिए सरकारों, अन्य नीति निर्धारकों और स्वेच्छिक संगठनों सहित समाज को प्रयास करना चाहिए।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *