लालच देकर धर्म परिवर्तन कराने वाला जेल जाएगाःसीएम

रांची,20मार्च। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि कोई स्वेच्छा से कोई धर्म अपनाये, सरकार को कोई आपत्ति नहीं है, यह सबकी आस्था का विषय है, लेकिन किसी की गरीबी का नाजायज फायदा उठा कर या लालच देकर यदि धर्म परिवर्तन कराने का काम करेगा, तो वह सीधे जेल जाएगा, चाहे वह कितनी भी बड़ी हस्ती क्यों न हो। उन्होंने कहा कि सरकार सिमडेगा जिले के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, राज्य सरकार ने तय है कि जिले को विकसित बनाने के लिए राजकीय फंड के अतिरिक्त 50 करोड़ रुपये का कोष अलग से दिया जाएगा। उनेंने यह भी कहा कि सिमडेगा में सड़कों का जाल बिछेगा, ताकि गांव जिला से और जिला अपास के जिलों और रांची से सुगमता से सड़क परिवहन से जुड़ जाएं। मुख्यमंत्री आज सिमडेगा के बोलवा स्थित वन दुर्गा मंदिर में आयोजित शतचंडी महायज्ञ और प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित कररहे थे। उन्होंने मां दुर्गा से झारखंड की गोद में पल रही गरीबी को खत्म करने की शक्ति देने की प्रार्थना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मां शब्द बहुत अहम है, सृष्टि का निर्माण मां के बगैर संभव नहीं, मां के तीन रुप होते है, एक मां जो जन्म देती है,दूसरी जो शक्ति देती है और तीसरी मां है, भारत माता। मां की शक्ति से उन्होंने देश सेवा का संकल्प लिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की प्राचीन संस्कृति को किसी नेता ने नहीं बनाया, बल्कि ऋषि-मुनिया, सूफी संतों ने बताया है, इसी प्राचीन संस्कृति की वजह से भारत विश्व गुरु बना था, आज फिर से ऐसा होता दिख रहा है, भारत को पुनः विश्व गुरु बनाने के लिए सभी देशवासियों को मिलजुलकर प्रयास करने की जरुरत है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हिन्दू धर्म किसी से भेदभाव नहीं करता, पूरा संसार हमारा परिवार है, हमारा धर्म मानव कल्याण की बात करता है, हम सभी धर्मां का आदर करते है, वे भी व्यक्तिगत रुप से सरकार भी सभी धर्मां का एक समान आदर करती है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सिमडेगा में वन दुर्गा मंदिर अत्यंत रमणीक स्थान है, प्राकृतिक सुंदरता के साथ यह धार्मिक केंद्र भी है, सरकार यहां सांस्कृतिक भवन का निर्माण करवाएगी ,जिससे यहां आने वाले श्रद्धालुओं को धूप-बारिश में परेशानी न हो।
इस अवसर पर रामरेखा धाम के महंत उमाकांत जी महाराज ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को प्रतीक चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया। कार्यक्रम में विधायक विमला प्रधान, प्रधान रामानुजाचार्य रंगानाथ आचार्य, सिमडेगा के उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक समेत अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *