आदर्श गांव डुमरिया से आदिवासी विकास समिति गठन अभियान की शुरुआत

दुमका 07 अप्रैल । झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज दुमका जिले के जामा प्रखंड क्षेत्र के थानदार डुमरिया आदर्श गांव से आदिवासी विकास समिति और ग्राम विकास समिति गठन अभियान का भाभारम्भ किया। मुख्यमंत्री रघुवर दास आज थानदार डुमरिया गांव में आयोजित ग्राम चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार के भरोसे ही आमलोगों को विकास सम्भव नहीं है। इसलिए गांव के लोगों को अपने गांवों का विकास उन्हें स्वयं करना होगा। श्री दास ने कहा कि सिर्फ सरकार के सोचने से कुछ नहीं हो सकता है। जन भागीदारी से ही विकास संभव है। उन्होंने कहा कि राज्य की महिलायें बहुत मेहनती हैं। उन्हें आत्म निर्भर बनाने की जरुरत है। महिलाओं को स ाक्त कर ही समाज राज्य और दे ा को मजबूत किया जा सकता है।
उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने गांव को समृद्ध बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। गांव के लोग आर्थिक रुप से समृद्ध होंगे तभी राज्य के विकास को गति मिलेगी। उन्होंने लोगों से सभी गांव के विकास में अपनी भागीदारी सुनि चत करने की अपील की। उन्होंने कहा कि शिक्षा सभी समस्याओं का हल है। शिक्षित समाज, ि ाक्षित गांव की अपनी एक अलग पहचान होती है। उन्होंने लोगों से अपने बच्चों को स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र जरुर भेजने की अपील करते हुए कहा कि बेटा या बेटी में फर्क नहीं करना चाहिए।उन्होंने कहा कि सरकार बेटियों को पढ़ाने के लिए योजनायें चला रही है। उन्होंने लोगों से अपने गांव को न ामुक्त गांव बनाने का संकल्प लेने का आह्वान किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री दास द्वारा गामीणों के समर्थन से आदिवासी विकास समिति का गठन किया गयां मुख्यमंत्री ने समिति के कार्य को विस्तृत रुप से ग्रामीणों को बताया।
मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वा’आदिवासी विकास समिति/ग्राम विकास समिति’ के गठन अभियान का शुभारंभ जामा प्रखंड के भैरवपूर पंचायत के आदर्श ग्राम थानदार डुमरिया के ग्राम चौपाल में किया गया। इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आपके गांव का विकास आपको खुद करना होगा। सिर्फ सरकार के सोचने से कुछ नहीं हो सकता है। जन भागीदारी से ही विकास संभव है। उन्होंने कहा कि झारखण्ड की महिलायें बहुत मेहनती हैं उन्हें आत्म निर्भर बनाने की जरुरत है। महिलाओं को सशक्त कर ही समाज राज्य और देश को मजबूत किया जा सकता है। सरकार द्वारा गांव को समृद्ध बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। गांव और यहां के लोग अगर आर्थिक रुप से समृद्ध होंगे तो राज्य के विकास को गति मिलेगी। आप सभी गांव के विकास में अपनी भागिदारी सुनिश्चित करें।
इस दौरान माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा गामीणों के समर्थन से आदिवासी विकास समिति का गठन किया गया। माननीय मुख्यमंत्री ने समिति के कार्य को विस्तृत रुप से ग्रामीणों को बताया।
उन्होंने कहा कि शिक्षा सभी समस्याओं का हल है। शिक्षित समाज, शिक्षित गांव की अपनी एक अलग पहचान होती है। अपने बच्चों को स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र जरुर भेजें। बेटा बेटी में फर्क ना करें। सरकार बेटियों को पढ़ाने के लिए योजनायें भी चला रही है। उन्होंने कहा कि आप सभी आज संकल्प लें कि अपने गांव को नशामुक्त गांव बनायेंगे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *