अम्बेडकर जयंती पर बाबा साहेब को दी गयी श्रद्धांजलि

रांची,14अप्रैल। भारत रत्न डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर राज्यभर में कई कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि बाबा अंबेडकर की गिनती महान विचारक, कर्मयोगी और निरंतर संघर्ष करने वाले महापुरुषों में होती है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने वंचितों और दलितों के अधिकार की लड़ाई लड़ी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि शिक्षा की दिशा में आगे बढ़ने के लिए बाबा साहब से बड़ी कोई प्रेरणा नहीं हो सकती। उन्होंने लोगों से डॉक्टर अंबेडकर के जीवन को समझने, पढ़ने और मनन चिंतन करने का संकल्प लेने का आह्वान किया है।
मुख्यमंत्री ने झारखंड उच्च न्यायालय के निकट स्थित अम्बेडकर चौक पर बाबा साहेब को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि कांग्रेस ने कभी दलितों के उद्धार के बारे में नहीं सोचा, केवल वोट बैंक की राजनीति की है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब और सरदार पटेल जी को सत्तर साल से राज कर रही कांग्रेस ने कभी सम्मान नहीं दिया। बाबा साहेब को भारत रत्न दिलाने लिए हमें बहुत जद्दोजहद करनी पड़ी।   बाबा साहेब ने बौद्ध धर्म को अपनाया क्योंकि ये धर्म भारत से ही निकला हुआ है, जबकी कई  पादरियों ने उनको लोभ देने की कोशिश की ताकि वो ईसाई धर्म अपना सके।  मुख्यमंत्री ने कहा कि जीवन में आगे बढ़ना है तो बाबा साहेब की तरह ही कड़ी मेहनत करनी होगी। विश्व में दो महामानव हुए हैं, एक मार्टिन लूथर किंग और दूसरे बाबा साहेब। लूथर किंग को विश्व पटल पर सम्मान मिला मगर बाबा साहेब को वो जगह नहीं मिल पायी  जो उनको मिलनी  चाहिए थी।कांग्रेस ने कभी उन्हें सम्मान नहीं दिया।
प्रदेश कांग्रेस भवन में भी बाबा साहेब को श्रद्धांजलि दी गयी। इसके अलावा भाजपा, झारखंड मुक्ति मोर्चा, आजसू पार्टी, राजद समेत विभिन्न दलों तथा संगठनों की ओर से अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित कर बाबा साहेब को याद किया गया।
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *