रिम्स के जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर गये

 मरीज के परिजनों के साथ मारपीट एक जूनियर डॉक्टर का हाथ टूटा
रांची,14अप्रैल। झारखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स में आज जूनियर डॉक्टरों और मरीज के परिजनों के बीच हुई मारपीट की घटना के बाद जूनियर डॉक्टर सुरक्षा और दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर हडड़ताल पर चले गये है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार एक युवती ने जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश की,जिसके बाद उसे रिम्स में भत्ती कराया गया, इलाज के दौरान ही मरीज के परिजन और जूनियर डॉक्टरों के बीच मारपीट हो गयी, जिसमें सर्जरी के जूनियर गजेंद्र पंडित का हाथ टूट गया।
इस घटना के बाद सभी डॉक्टरों ने काम करने से इंकार कर दिया। सभी डॉक्टर एकजुटता के साथ रिम्स चिकित्सा अधीक्षक कार्यालय के समक्ष जमा हो कर नारेबाजी की। डॉक्टरों ने आरोप लगाया कि मरीज के साथ कई परिजन पहुंचे और ड्यूटी में तैनात डॉक्टरों से बदतमीजी और मारपीट किया। इस घटना में महिला डॉक्टरों के साथ भी बदसलूकी की गई।
रिम्स पीजी सर्जरी विभाग के डॉक्टर गजेंद्र पंडित ने कहा कि वे सभी मरीज का इलाज कर रहे थे, लेकिन परिजनों के द्वारा इलाज में कोताही का आरोप लगाकर डॉक्टरों के साथ मारपीट किया गया। इस घटना में मेरा दाहिना हाथ टूट गया है । उन्होंने कहा कि पिछली बार भी डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटना घटी थी। जिसके बाद जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के बैनर तले डॉक्टरों ने हड़ताल कर दिया था। डॉक्टरों रिम्स की सुरक्षा में कोताही का आरोप लगा रहे हैं । उनका कहना है कि आये दिन ऐसी स्थिति यहां देखने को मिलती है। रिम्स में तैनात गार्ड भी रिम्स की सुरक्षा व्यवस्था को सही ढंग से नही संभाल पाते है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *