देश की आर्थिक स्थिति व बैंकिंग व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई-कांग्रेस

रांची,17अप्रैल। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राज्य में बैंकों के एटीएम में ?नो कैश’ और मार्केट में नकद की भारी कमी से आम जनों को हो रही परेशानियों पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि नोटबंदी के करीब डेढ़ साल बाद भी एटीएम में कैश नहीं उपलब्ध रहना यह साबित करता है कि देश की आर्थिक स्थिति और बैकिंग व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता लाल किशोर नाथशाहदेव ने बताया कि शादी-ब्याह के मौके और अप्रैल में बच्चों के नये सत्र की शुरुआत में लोगों को नकद की जरुरत पड़ती है, लेकिन यह काफी दुःखद स्थिति है कि लोग बैंकों में जमा अपने नकद राशि को भी निकाल नहीं पा रहे है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद पूर्व प्रधानमंत्री डॉ.मनमोहन सिंह का यह कथन पूरी तरह से सही साबित हो रहा है जीडीपी में दो प्रतिशत की गिरावट आएगी। आज झारखंड ही नहीं देश भर में युवाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहा है और बैंकिंग प्रणाली के बर्बाद हो जाने से हर व्यक्ति प्रभावित हुआ है।
श्री शाहदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लिये गये नोटबंदी के निर्णय से देश की जनता को आज भी भुगतना पड़ रहा है, एक ओर बेरोजगारी बढ़ी है, विकास दर घटा है, वहीं बैंकों में आज भी कैश की कमी है। आने वाले समय में भी नोटबंदी से हुए नुकसान की भरपाई नहीं की जा सकती है।
श्री शाहदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देश की जनता को जवाब देना चाहिए, श्री शाहदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश की बैंकिंग प्रणाली को बर्बाद कर दिया है, एक ओर हीरा कारोबारी नीरवा मोदी एवं मेहुल चौकसी जैसे कारोबारी बैंको से 30 हजार करोड से भी ज्यादा लेकर विदेश रवाना हो गये लेकिन प्रधानमंत्री ने इस पर एक शब्द नहीं कहा। श्री शाहदेव ने कहा कि बैंकों की वर्तमान हालात के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जिम्मेवार हैं। उन्होंने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से एटीएम में अविलंब कैश आपूर्ति की मांग की है ताकि लोगो को हो रहे दैनिक कठिनाई से छूटकारा मिल सके।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *