आदिवासी समाज में भ्रांतियां फैलाने की कोशिश ,सीधा संवाद कर नाकाम करेंगेः अमित शाह

रांची,11जुलाई। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि पिछले कुछ समय से विपक्षी ताकतें आदिवासी समाज को लेकर तरह-तरह की भ्रांतियां फैलाने का काम कर रही है, इसलिए वे सीधा संवाद करने के लिए आये है,ताकि कोई भ्रांति न रहे। अमित शाह बुधवार को रांची में आदिवासी समाज के अग्रणी बंधुओं व प्रबुद्धजनों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।
अमित शाह ने कहा कि मिशन 2019 की तैयारी को लेकर वे संगठन को मजबूत बनाने के उद्देश्य से देशभर के राज्यों में उनके प्रवास का कार्यक्रम है, इसी के तहत वे झारखंड आये है। अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भाजपा सरकार आदिवासियों की सरकार होगी, गरीबों की सरकार होगी। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सिर्फ 60 वर्षों में आदिवासियों का वोट लिया। जब काम करने की बात आयी , खामोश ही गयी। आदिवासियों को ये हक है कि वे भाजपा सरकार से हिसाब ले, वे हिसाब देने के लिए आये है। सबसे अधिक गैस कनेक्शन देने का काम आदिवासियों के बीच हुआ। हर घर में आज बैंक खाता खोलने का काम भाजपा ने किया। दिसंबर तक हर घर में बिजली पहुंच जाएगी। आदिवासी बच्चों के लिए टीकाकरण की योजना बनती थी, लेकिन नीचे तक नहीं पहुंचती थी। आज 72 फीसद आदिवासी समाज के बच्चों का टीकाकरण हो चुका है। 15 अगस्त तक सात तरह की योजनाएं गांव-गांव तक पहुंच जाएगी। 50 करोड़ लोगों को पांच लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा योजना से जोड़ने का काम भाजपा सरकार ही कर रही है। गरीब मजदूर को आपने झारखंड का मुख्यमंत्री और चाय बेचने वाले को प्रधानमंत्री बनाया है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने हिसाब दे दिया, अब लोग कांग्रेस और झामुमो से हिसाब मांगे। अमित शाह ने जनजातीय समाज से अपील की कि वे किसी के बहकावे में न आएं, देखें कि बिजली, सड़क, पानी की पहुंच उनतक सुनिश्चित हुई या नहीं।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यह आरोप पूरी तरह से निराधान है कि एसटी-एससी एक्ट में संशोधन कर एक्ट को कमजोर किया गया है, सच्चाई इससे अलग है, एक्ट पहले कमजोर था,इसे सशक्त किया गया। 18 हजार करोड़ रुपये जिला खनिज फंड के जरिये आदिवासियों के हित मे जमा किए। भाजपा ने बांस को घास मानकर एक कार्यक्रम बांस मिशन शुरु किया। 1290 करोड़ रुपये इस पर खर्च किये जा रहे हैं। आने वाले 10 वर्षों में इसका सुखद परिणाम देखने को मिलेगा। आदिवासी बहुल इलाकों के विकास के लिए वन बंधु योजना की शुरुआत भी भाजपा ने की। आने वाले समय में ऐसा को भी आदिवासी बहुल इलाका नहीं होगा, जहां एकलव्य आवासीय स्कूल नहीं होगा।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि 60 सालों में अन्य पार्टियों ने इन्हें सिर्फ वोट बैंक समझने का काम किया, लेकिन अब इन्हें सबक सिखाने का वक्त आ गया है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी में सबसे पहली क्रांति यहीं से शुरु हुआ है। नेहरु परिवार ने इन वीरों को भुलाने का काम किया। देश की संस्कृति को बचाने वाले आदिवासी आज सजग हो रहे हैं। जब वे जाग्रत हुए राष्ट्र विरोधी ताकतें उन्हें भ्रमित करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज को कांग्रेस और झारखंड नामधारी पार्टियों ने सिर्फ छलने का काम किया है। राज्य सरकार ने 50 फीसद से अधिक आबादी वाले गांव में आदिवासी विकास परिषद और इससे कम आबादी वाले गांव में ग्राम विकास परिषद का गठन किया। बरसात के बाद इन परिषदों के खाते में सरकार सीधे 5 लाख रुपये डालेगी। यह राशि संबंधित गांवों के विकास पर खर्च होगी। 14 लोकसभा सीट भाजपा की झोली में जाएगी।
पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि 1784 में मां के कहने पर अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ तिलका मांझी ने तीर उठाया, अंग्रेज कमिश्नर को मार गिराया,मांझी को फांसी दी गई । आजाद भारत मे मौका मिला है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अनुसूचित जनजाति नए फलक का निर्माण करें।
सांसद और लोकसभा के पूर्व उपाध्यक्ष कड़िया मुंडा ने कहा कि जनजातीय समाज की चिंता अगर कोई करती है तो वह भाजपा है। हम अपनी संस्कृति से समझौता नहीं करते। जरुरत पड़ती है तो विद्रोह भी कर बैठते हैं। उनकी संस्कृति की रक्षा भी कोई कर रही है तो वह भाजपा है। सरकार बहुत कुछ आदिवासियों के लिए कर रही है। लोग जागृत हो, पत्थलगड़ी के नाम पर जनजातीय संस्कृति पर डाका डालने की कोशिश हो रही है। यह सब 2019 के चुनाव को केंद्र में रखकर किया जा रहा है।
प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पिछले सितंबर में आए थे। उन्होंने कहा था कैसे काम करना है। आज सांसदों, विधायकों की ताकत भाजपा से है। आदिवासी समाज भाजपा के साथ है। विपक्ष गलतफहमी पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, सभी मिलकर इस चुनौती का सामना करेंगे। पत्थलगड़ी को भी विपक्ष उछाल रहा है। बैठक को समाज कल्याण मंत्री लुईस मरांडी व भाजपा एसटी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक रामकुमार पाहन ने भी संबोधित किया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *