विपक्ष नहीं, सत्तापक्ष के कारण सदन की कार्यवाही बाधित-हेमंत

रांची,18जुलाई। झारखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा है कि पिछले दो वर्ष से अधिक समय से विपक्ष के कारण नहीं, बल्कि सत्तापक्ष के कारण ही सदन की कार्यवाही नहीं चल पा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार एक साजिश के तहत जानबूझ कर ऐसे मुद्दे को सदन में लाकर विपक्ष को आक्रोशित करने का प्रयास करती है,ताकि सदन की कार्यवाही बाधित रहे और वे अपना उल्लू सीधा करते रहे। हेमंत सोरेन विधानसभा की कार्यवाही स्थगित होने के बाद बुधवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने बताया कि विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने आज भोजनावकाश के दौरान कार्यमंत्रणा समिति की बैठक बुलायी, इस बैठक के दौरान सभी सदस्यों की ओर से सदन को सुचारु रुप से चलाने पर सहमति जतायी। उन्होंने बताया कि बैठक के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री से स्पष्ट तौर पर कहा कि जिस मुद्दे को लेकर गतिरोध बना है,उसका समाधान निकाला जाना चाहिए, राजनीतिक या व्यक्तिगत हित से उपर उठकर सोचना होगा। उन्होंने बताया कि बैठक के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष शर्त्त रखी कि वे भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक पर सरकार की गलती को साबित करने के लिए तैयार है, यदि बैठक में यह तय हो जाता है, तो सरकार इस बिल को वापस ले, उसके बाद ही इस पर चर्चा हो। लेकिन मुख्यमंत्री की सहनशीलता काफी कमजोर है और बहुमत के अंहकार में डूब कर कहते है कि अभी जनता ने उन्हें बहुमत दिया है और यदि वे वे 2019 में सत्ता में आये, तो इसे निरस्त कर दे। उन्होंने कहा कि विपक्ष जनता के वजूद की लड़ाई लड़ रहा है और अस्तित्व की रक्षा को लेकर संघ ार् आगे भी जारी रहेगा। उन्होंने स्वामी अग्निवेश पर हमले और आज रांची में विधानसभा घेराव के दौरान युवा कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं पर पुलिस लाठीचार्ज की घटना की निन्दा करते हुए कहा कि सरकार लोकतांत्रिक व्यवस्था को कमजोर करने में लगी है।
विपक्षी सदस्य पैदल मार्च करते विधानसभा पहुंचे
झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन आज सदन के अंदर और सदन के बाहर स्वामी अग्निवेश पर हमले के मुद्दे को लेकर विपक्षी सदस्यों का तेवर उग्र नजर आया ।विपक्षी सदस्य विधानसभा परिसर स्थित क्लब हॉल से पैदल मार्च करते हुए विधानसभा पहुंचे। इस दौरान विपक्षी सदस्य स्वामी अग्निवेश पर हमले के विरोध नारेबाजी और दोषियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे ।
नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन के नेतृत्व में कांग्रेस झारखंड मुक्ति मोर्चा झारखंड विकास मोर्चा और भाकपा माले के सदस्य पैदल मार्च करते हुए विधानसभा के मुख्य द्वार तक पहुंचे और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि स्वामी अग्निवेश पर हमले की घटना से पूरे देश में झारखंड की बदनामी हु है उन्होंने कहा कि दोषियों को अविलंब गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
झारखंड विकास मोर्चा के विधायक प्रदीप यादव ने भी कहा कि स्वामी अग्निवेश पद हमला लोकतांत्रिक व्यवस्था पर प्रहार है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *