1.38करोड़ बच्चों को खिलायी जाएगी एलबेंडाजॉल

स्वास्थ्य मंत्री ने राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान
रांची, 9 अगस्त। झारखंड में1 करोड़ 38लाख बच्चों को कृमि नाशक दवा एलबेंडाजॉल खिलायी जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने गुरुवार को रांची में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान का विधिवत उद्घाटन किया और स्कूली बच्चों को एलबेंडाजॉल की दवा खिलायी।
इस मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 10 अगस्त को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर राज्यभर में एक से 19 वर्ष तक के 1 करोड़ 38 लाख किशोर किशोरियों को कृमि नाशक दवा एलबेंडाजॉल खिलायी जायेगी। उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान जिन बच्चोंको कृमि नाशक दवा नहीं खिलायी जा सकेगी उन्हें मॉप अप दिवस 17 अगस्त को दवा खिलायी जायेगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि झारखंड में इस अभियान का पांचों चरण सफलतापूर्वक संचालित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस साल फरवरी में17 जिलोंमें अभियान चलाया गया था जिसमेंलगभग 81 लाख बच्चों कोकृमि नाशक दवा खिलायी गयी थी। रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि कृमि संक्रमण के कारण बच्चों के स्वास्थ्य और उनके विकास में बाधा पहुंचती है। कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से चलाने के लिए 47,807 शिक्षकों, 38,432 आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ताओं को प्रशिक्षित किया गया है।
इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे ने कहा कि कृमि बच्चों के विकास में बाधक होता है और इससे एनिमिया और कुपोषण का भी खतरा बना रहता है। पर कई लोग इस बात को गंभीरता से नहीं लेते। उन्होंने बताया कि भारत उन देशों की सूची में शामिल है, जहां कृमि संक्रमण और इससे संबंधित रोग सबसे अधिक पाये जाते हैं। खासकर पूर्वी एशिया और अफ्रीका के बच्चों में कृमि का संक्रमण ज्यादा देखा जाता है। इसलिए इस कार्यक्रम का प्रभावी ढंग से चलना आवश्यक है। यह चुनौती है कि मुश्किल से पहुंच वाले इलाकों तक कैसे इस अभियान को सफलतापूर्वक पूरा किया जाए। उन्होंनेअभिभावकों से अपील की कि सभी अभिभावक अपने बच्चों को एलबेंडाजॉल दवा जरूर खिलायें।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *