बाबाधाम में तीसरी सोमवारी पर दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने की संभावना

रांची,12अगस्त। पवित्र सावन महीने की तीसरी सोमवारी के मौके पर देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथधाम में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ने की संभावना है और कल श्रद्धालुओं का आंकड़ा दो लाख से उपर पहुंच जाने की संभावना है। इसे लेकर जिला प्रशासन की ओर से व्यापक तैयारियों को अंजाम दिया गया है।
देवघर के उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने बतलाया कि पहली और दूसरी सोमवारी की तुलना में तीसरी सोमवारी को ज्यादा श्रद्धालुओं के बाबाधाम पहुंचने की सूचना है,ऐसे में श्रावणी मेला में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों, पुलिस अधिकारियों, जवानों और स्वयंसेवकों को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि सुल्तानगंज से बाबाधाम के पूरे रूटलाईन में तैनात दंडाधिकारी और पुलिस अधिकारियों को और अधिक अलर्ट रहने का दिशा-निर्देश जारी किया गया है। सभी अधिकारी और जवान मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी में तैनात रहकर श्रद्धालुओं को सिंगल कतार में कतारबद्ध करते हुए मंदिर की ओर से भेजेंगे और सभी को एक समान गति से बिना गैप किये कतार को आगे बढ़ाने का निर्देश दिया गया है। कतार को तोड़ कर घुसपैठ रोकने और अफरा-तफरी की स्थिति से निपटने के लिए विशेष ध्यान रखने का निर्देश दिया गया है।
तीसरी सोमवारी को भीड़ बाबामंदिर परिसर से 15-20दूर बरमसिया तक पहुंच जाने की संभावना है,ऐसी स्थिति में मंदिर, क्यू कॉम्प्लेक्स, फुट ओवर ब्रिज, नेहरू पार्क, बीएड कॉलेज, कालीबाड़ी से कुमैठा, नन्दन पहाड़ से कालीबाड़ी, बरमसिया से नन्दन पहाड़, क्यू कॉम्प्लेक्स से बरमसिया तक इत्यादि विभिन्न जगहों पर दण्डाधिकारियों के नेतृत्व में पर्याप्त संख्या में जवानों की तैनाती की गयी है। इसके अतिरिक्त सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में चौबीस घंटे पानी की उपलब्धता, साफ-सफाई एवं वहां प्रतिनियुक्त सुरक्षाकर्मियों की संख्या भी बढ़ाने का निर्देश दिया गया है। बाबाधाम में जलाभिषेक के लिए आने वाले कांवरिया शिवगंगा पर अपने जल का संकल्प कराकर निर्धारित रूट पर कतारबद्ध होकर आगे बढ़ेंगे।
बाबा मंदिर में सोमवारी को जलाभिषेक का बड़ा महत्व है और ऐसी मान्यता है कि सोमवारी के मौके पर बाबा भोलेनाथ पर जलाभिषेक करने से हर इच्छित मनोकामना पूरी होती है। इस कारण सोमवारी पर जलार्पण के लिए झारखंड के विभिन्न जिलों के अलावा पड़ोसी राज्य बिहार, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा और नेपाल समेत देश के अन्य हिस्सों से श्रद्धालु जलाभिषेक के लिए पहुंचते है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *