पुलिस मुठभेड़ में इनामी पीएलएफआई नक्सली ढेर

रांची,14सितंबर। झारखंड के गुमला जिले में पुलिस और प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआई के हथियारबंद दस्ते के बीच मुठभेड़ में इनामी कृष्णा गोप मारा गया।
गुमला जिले के बसिया थाना क्षेत्र के बोंडकेरा गांव में गुरुवार देर रात पुलिस ने कृष्णा गोप के छिपे रहने की गुप्त सूचना मिलने पर इलाके की घेराबंदी की, तो कृष्णा गोप फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की। लेकिन जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने एक लाख के इनामी नक्सली कृष्णा गोप को मार गिराया। कृष्णा गोप कुछ दिनों के लिए पुलिस के लिए चुनौती बन गया था और पुलिस के लिए यह बड़ी सफलता है। कृष्णा गोप मूल रूप से कामडारा थाना क्षेत्र के पारहि गांव का रहने वाला था और क्षेत्र में आतंक का पर्याय बन गया था। उसके खिलाफ कामडारा, बसिया और सिसई थाना क्षेत्र में कई मामले दर्ज है।
हालांकि कुछ स्थानीय लोगों का यह भी कहना हे कि अपने को पुलिस से घिरता देखकर कृष्णा ने खुद को गोली मार ली। उसकी दाहिनी कनपट्टी में गोली लगी है, तो दूसरी कनपट्टी को छेद कर निकल गयी।
मुठभेड़ के बाद पुलिस ने कृष्णा के एक सहयोगी को भी घटनास्थल से गिरफ्तार किया है और उससे बसिया थाना में लगाकर पूछताछ की जा रही है।
गौरतलब है कि गुरुवार को भी पुलिस ने 20लाख के इनामी नक्सली कोहराम को हजारीबाग से गिरफ्तार कर लिया था, जबकि चतरा पुलिस ने पत्रकार इंद्रदेव की हत्याकांड मामले में आरोपी कुख्यात नक्सली मुनेश गंझू को भी गिरफ्तार किया था। वहीं 25लाख के इनामी नक्सली बिरसई ने पलामू में पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया। पुलिस नक्सलियों के खिलाफ लगातार राज्य के विभिन्न हिस्सों में अभियान चला रही है और इस वर्ष के अंत तक झारखंड के कई अन्य जिले नक्सल मुक्त क्षेत्र घोषित हो जाएंगे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *