सर्पदंश, भगदड़ समेत अन्य हादसों में मौत पर चार लाख का मुआवजा

वज्रपात-अल्पवृष्टि के अलावा अन्य आपदाओं पर भी मुआवजा
रांची, 11 अक्तूबर ।झारखंड सरकार ने सर्पदंश,अतिवृश्टि, खनन जनित आपदा, रेडिएशन संबंधी आपदा, डोभा-तालाब व नदी में डूबने,   नाव हादसा, भगदड़ और गैस संबंधी आपदाओं से मौत होने पर मृतक के आश्रितों को चार लाख रुपये का मुआवजा देने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री रघुवर दास की अध्यक्षता में गुरुवार को रांची स्थित झारखंड मंत्रालय में हुई राज्य मंत्रिपरिशद की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी गयी।
बैठक समाप्त होने के बाद कैबिनेट सचिव एसकेजी रहाटे ने बताया कि पूर्व में सिर्फ वज्रपात या अल्पवृश्टि के कारण पेयजल संकट से हुई मौत पर ही विशेष स्थानीय आपदा के तहत मुआवजा देने का प्रावधान था। लेकिन अब इन आपदाओं से भी जान-माल की क्षति होने पर प्रावधान के तहत मुआवजामिलेगा। इसके साथ ही कैबिनेट की बैठक में 10 प्रस्ताओं पर मुहर लगी।
विकास समिति के लिये 60 करोड़ स्वी.त :
ग्रामीण विकास समिति और आदिवासी ग्राम विकास समिति द्वारा की जानेवाली योजनाओं के क्रियांवयन के लिये 60 करोड़ रुपये की प्रशासनिक राशि की स्वी.ति दी गयी। जिसके तहत स्थानीय स्तर पर होनेवाली समस्याओं को देखते हुये स्थानीय ग्रामीणों द्वारा योजनाओं को पूरा किया जायेगा। पांच लाख तक की राशि संबंधित योजनाओं को एक साल में क्रियांवयन होगा। कैबिनेट ने इसपर अपनी सहमति दी।
राज्य में खुलेंगे दस अतिरिक्त .षि विज्ञान केन्द्र :
राज्य में दस अतिरिक्त नया कृषि विज्ञान केन्द्र खुलेगा, जिसपर कैबिनेट ने सहमति दी। नये .षि विज्ञान केन्द्रों में पलामू, रांची, हजारीबाग, गिरिडीह, र्पूर्वी सिंहभूम, साहेबगंज, गढ़वा, देवघर, धनबाद और बोकारो के नाम शामिल है।
राम.ष्ण मिशन के नये वाहनों पर कर की छूट :
राम.ष्ण मिशन को दी जानेवाली वाहनों के कर में छूट प्रदान करने की स्वी.ति मिली। झारखंड नगर पालिका संपति कर संग्रह और वसूली नियमावली प्रावधान में संशोधन किया गया। जिसके तहत नवगठित स्थानीय निकाय में आनेवाले नये क्षेत्रों के लिये संबंधित निकाय में लोगों को हाउस हॉल्डिंग सहित अन्य टैक्स को मुक्त किया गया है। इसके अलावा अन्य प्रस्ताओं पर मुहर लगी।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *