कोलेबिरा विस उपचुनाव में पांच प्रत्याशी चुनाव मैदान में डटे

रांची,6दिसंबर। झारखंड में सिमडेगा जिले के कोलेबिरा विधानसभा उपचुनाव को लेकर गुरुवार को नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि समाप्त हो गयी। नामांकन वापस लेने के अंतिम दिन निर्दलीय प्रत्याशी प्यारा मुंडु और विनोद केरकेट्टा ने अपना पर्चा वापस लिया। उपचुनाव के सात उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किया था, जिनमें से दो प्रत्याशियों द्वारा पर्चा वापस लेने के बाद अब चुनाव मैदान में पांच प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में रह गये है। इनमें झारखण्ड पार्टी की मेनोन एक्का, कांग्रेस नमन विक्सल कांगाड़ी, भाजपा के बसंत सोरेंग, और राष्ट्रीय सेंगेल पार्टी के अनिल कंडुलना के अलावा निर्दलीय बंसत डुंगडुंग शामिल हैं।
झारखंड पार्टी की उम्मीदवार मेनन एक्का पूर्व विधायक एनोस एक्का की पत्नी और सिमडेगा जिला परिषद की अध्यक्ष है। वहीं भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी बसंत सोरेंग सिमडेगा जि के भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के महामंत्री है है और वह कईखेल संगठनों तथा सांस्कृतिक गतिविधियों से भी जुड़ रहे है। कांग्रेस के नमन विक्सल कोंगाड़ी को अपना प्रत्याशी बनाया है, वह लंबे समय से जिले में जल , जंगल और जमीन तथा वनाधिकार के मुद्दे पर आंदोलन करते रहे है। झापा प्रत्याशी मेनन एक्का को झारखंड विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा की ओर से समर्थन देने का ऐलान किया गया है, जबकि झारखंड विकास मोर्चा ने कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन देने का निर्णय लिया है।
कोलेबिरा उपचुनाव के लिए 20दिसंबर को मतदान और 23 दिसंबर को मतगणना होगी। कोलेबिरा विधानसभा क्षेत्र में आने वाले पांच प्रखंडों जलडेगा, कोलेबिरा, बांसजोर, ठेठईटांगर और बोलवा में मतदान को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गयी है।गौरतलब है कि पारा शिक्षक हत्याकांड मामले में विधायक एनोस एक्का को अदालत द्वारा आजीवन कारावास की सजा सुनाये जाने के कारण उनकी विधानसभा सदस्यता समाप्त हो गयी और उपचुनाव कराया जा रहा है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *