तीरंदाज दीपिका की सगाई 10 को साथी खिलाड़ी अतानु दास से

रांची,6दिसंबर।अंतरराष्ट्रीय तीरंदाज झारखंड की दीपिका की सगाई 10 दिसंबर को होगी। दीपिका की सगाई का पारिवारिक कार्यक्रम रांची के रातू चट्टी स्थित आवास होगा। दीपिका की सगाई उसके साथी खिलाड़ी अतानु दास से होगी।
दीपिका के पिता शिवनारायण महतो और माता गीता देवी ने बताया कि सगाई को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि सगाई के बाद ही शादी की तिथि तय की जाएगी। हालांकि उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्पर्द्धाओं को ध्यान में रखते हुए शादी की तिथि तय की जाएगी और यह तिथि संभवतः अगले वर्ष नवंबर हो सकती है।
दीपिका से जब पत्रकारों ने उनकी शादी के बारे में पूछा तो उसने मुस्कुराते हुए कहा कि अतानु के साथ उनका लव कम अरेंज मैरिज होगा। 10 दिसंबर को इस सगाई समारोह में दीपिका और अतानु दास के परिवार वालों के अलावा तीरंदाजी से जुड़े कुछ कोच व अन्य पदाधिकारी तथा कई गणमान्य अतिथियों को आमंत्रित किया गया है।
इधर, दीपिका का पूरा परिवार फिलहाल इस रिश्ते से काफी खुश है। घर में अभी से ही जश्न का माहौल है। दीपिका के पिता और मां होने वाले दामाद के हर पसंद-नापसंद का ख्याल रख रहे हैं। शिवनारायण महतो के अनुसार 10 दिसंबर की सगाई में सीमित लोगों को निमंत्रण भेजा गया गया। इस निमंत्रण में सबसे खास हैं पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा और उनकी पत्नी मीरा मुंडा है, क्योंकि दीपिका ने उनके ही खरसावां के आर्चरी अकेडमी से तीरंदाजी की शुरुआती ट्रेनिंग हासिल की थी।हालांकि जब पत्रकारों ने जानना चाहा कि रांची के युवराज और क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को दीपिका की सगाई के लिए निमंत्रण भेजा है या नहीं , तो शिवनारायण महतो ने कहा कि धोनी ने आजतक उनलोगों को किसी भी चीज के लिए निमंत्रण नहीं भेजा तो वे क्यों उनको बुलाएंगे।
दीपिका के पिता शिवनारायण महतो आज भी ऑटो चलाते हैं। दीपिका दो बहन और एक भाई है। छोटी बहन भी आर्चरी खिलाड़ी है और वहभी अच्छा खेल रही है। जबकि छोटा भाई पढ़ाई कर रहा है। पिता शिवनारायण महतो ने कभी भी अपने काम को छोटा नहीं समझा। वे कहते हैं कि अपने तीनों संतान को लायक बनाना ही उनके जीवन का लक्ष्य है। इस लक्ष्य को पाने में इस ऑटो का बहुत बड़ा योगदान है। इसलिए ऑटो चलाने से मेरा मन कभी छोटा नहीं होता बल्कि बड़ा होता है। गौरतलब है कि दीपिका ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की कई स्पर्द्धाओं में पदक हासिल कर झारखंड का नाम रौशन किया है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *