बोकारो उपायुक्त के पीए को एसीबी ने रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

रांची,6दिसंबर। झारखंड में बोकारो के उपायुक्त मृत्युंजय कुमार वर्णपाल के पीए (निजी सहायक) मुकेश कुमार को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने 70 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।
धनबाद से बोकारो पहुंची एसीबी की टीम ने उपायुक्त आवास के निकट से ही पीए मुकेश कुमार को घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। बताया गया है कि एसीबी को यह शिकायत मिली थी कि 12 लाख रुपये के काम के एवज में छह प्रतिशत की दर से 70लाख रुपये घूस मांगी जा रही है, इस सूचना पर एसीबी की टीम ने योजनाबद्ध तरीके से जाल बिछाकर पीए मुकेश कुमार को गिरफ्तार करने की योजना बनायी और 70हजार रुपये घूस लेते वक्त उसे गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि मुकेश कुमार को कुछ शक हुआ, तो वह भागने की कोशिश करने लगा, लेकिन तब तक एसीबी की टीम ने उसे दबोच लिया।
बताया गया है कि जिस वक्त मुकेश कुमार की गिरफ्तारी हुई,उस वक्त उपायुक्त मृत्युंजय कुमार वर्णवाल अपने आवास के बाहर टहल रहे थे। उन्होंने अफरा-तफरी देखकर एसीबी के डीएसपी से बात की। एसीबी की टीम आरोपी को बोकारो से धनबाद ले गयी। गिरफ्तारी के दौरान एसीबी की टीम के साथ धनबाद की कार्यपालक दंडाधिकारी दीपमाला भी मौजूद थी।
इधर, पीए मुकेश कुमार की गिरफ्तारी का समाहरणालय के कर्मचारियों ने विरोध किया है। विरोध कर रहे समाहरणालय कर्मचारियों का कहना है कि मुकेश कुमार को एक साजिश के तहत फंसाने की कोशिश की गयी है। गिरफ्तार मुकेश कुमार उपायुक्त का स्टोनोग्राफर भी है। गिरफ्तारी की सूचना मिलने पर जब मीडियाकर्मी मौके पर पहुंचे,तो गिरफ्तार आरोपी मुकेश कुमार अपने हाथ से चेहरे को छिपाने की कोशिश कर रहा था। बताया गया है कि मुकेश कुमार उपायुक्त का पीए होने के साथ-साथ सप्लाई विभाग में भी बड़ा बाबू के पद पर काम करता था और बोकारो समाहरणालय में उसकी अच्छी पकड़ा थी। प्रारंभ में वह स्वास्थ्य विभाग में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर बहाल हुआ था, लेकिन कुछ ही दिनों में वह बोकारो उपायुक्त की पीए बन गया, साथ ही सप्लाई विभाग में बड़ा बाबू के रूप में भी काम करने लगा। एसीबी की टीम गिरफ्तार पीए से पूछताछ कर रही है, हालांकि एसीबी की ओर से इस संबंध में कुछ भी आधिकारिक रूप से बताने से इंकार किया गया है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *