शौर्य दिवस पर निकले जुलूस में हंगामा,दो गुट भिड़े

हजारीबाग शहर में तनाव, स्थिति नियंत्रण में
रांची,6दिसंबर। झारखंड के हजारीबाग में आज शौर्य दिवस के मौके पर निकाले गये जुलूस में दो गुटों के बीच झड़प हो गयी, जिसके बाद जिला प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए स्थिति को नियंत्रित कर लिया। स्थिति को देखते हुए प्रशासन और पुलिस के जवान गश्त कर रहे हैं। पुलिस ने इस बीच एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शौर्य दिवस पर गुरुवार को हजारीबाग में जुलूस निकाला गया। प्रारंभ में जुलूस में शामिल वाहन को प्रशासन द्वारा जब्त किया गया। बाद में सदर विधायक मनीष जायसवाल के हस्तक्षेप पर उसे थाना से छोड़ दिया गया। शहर में निकाले गए जुलूस में अचानक झण्डा चैक के समीप स्थित कोल्ड टैक्स चैक के पास विवाद हो गया। देखते ही देखते यह दो समुदाय में फैल गया। दोनों ओर से रोड़ेबाजी होने लगी। इस घटना में कुछ लोगों के घायल होने की सूचना है। भीड़ द्वारा आधा दर्जन से अधिक दो पहिया वाहनों में आग लगा दिया गया। एक चार पहिया माल वाहक को भी आग लगाया गया। हालांकि आग पर काबू पा लिया गया। भीड़ को तीतर-बीतर करने के लिए पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए। जानकारी मिलते हीं उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला, पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल, सदर एसडीओ मेघा भारद्वाज ने मोर्चा संभाला। अधिकारियों के संघ जवानों ने भीड़ को खदेड़ दिया। देखते ही देखते हजारीबाग शहर बंद हो गया। पूरे शहर में तनाव का माहौल उत्पन्न हो गया। शहर के सड़कों पर पदाधिकारियों एवं पुलिस के जवान गश्त कर रहे हैं। स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन तनावपूर्ण है। पुलिस ने करीब एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है।
इधर, वाम दलों ने संविधान बचाओ और धर्मनिरपेक्षता की रक्षा समेत अन्य मांगों को लेकर गुरुवार को रांची में राजभवन के समक्ष धरना दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भाकपा के पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने कहा कि आज केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों के कारण आम लोगों में भय का माहौल है। इस मौके पर विभिन्न वाम दलों के कई नेता उपस्थित थे। राज्य के कई अन्य जिलों में भी बाबारी मस्जिद विध्वंस के खिलाफ वाम दलों ने काला दिवस मनाते हुए प्रतिवाद मार्च निकाला।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *