लालू प्रसाद से मिलें सीताराम येचुरी,महागठबंधन पर चर्चा

भोला प्रसाद यादव व सुरक्षाकर्मियों के बीच नोकझोंक 

रांची,12जनवरी। बहुचर्चित चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद से शनिवार को मुलाकात का दिन होता है। बिहार के मधुबनी के विस्फी विधायक डॉ. फैयाज अहमद जब रांची के रिम्स में पेइंग वार्ड में भर्त्ती लालू प्रसाद से मुलाकात करने पहुंचे, तो वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया।  जिससे लालू प्रसाद के अटेंडेंट और विधायक भोला प्रसाद यादव तथा सुरक्षाकर्मियों के बीच नोकझोंक हुई। लालू प्रसाद के अटेंडेंट भोला प्रसाद यादव के साथ विधायक डॉ. फैयाज अहमद रिम्स में राजद अध्यक्ष से मिलने पहुंचे थे, लेकिन वहां तैनात सुरक्षाकम्रियों ने बताया कि अभी जेल प्रशासन की ओर से मुलाकातियों के संबंध में कोई सूची अब तक उपलब्ध नहीं करायी गयी है,इसलिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा, जिसके बाद भोला यादव और सुरक्षाकर्मियों के बीच नोकझोंक हो गयी, लेकि विधायक फैयाज अहमद के हस्तक्षेप के बाद मामले को संभाल लिया गया और दोनों अंदर चले गये। बाद में लालू से मिलकर बाहर निकलने पर फैयाज अहमद ने बताया कि मुलाकात के दौरान सिर्फ उनके सेहत को लेकर चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि लालू प्रसाद की तबीयत फिलहाल ठीक नहीं है, कई बीमारियों की वजह से उनका स्वास्थ्य अच्छा नहीं है।इस बीच  भाकपा के पूर्व राज्य सचिव और हजारीबाग के पूर्व सांसद भुनेश्वर प्रसाद मेहता भी लालू प्रसाद से मिलने पहुंचे, लेकिन पहले उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया, लेकिन बाद में अनुमति मिलने पर भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने भी लालू प्रसाद से मुलाकात की। इसके थोड़ी देर बाद मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी भी लालू प्रसाद से मिलने रिम्स पहुंचे। इस दौरान दोनों के बीच महागठबंधन के फार्मूले पर भी चर्चा हुई। बाद में पत्रकारों से बातचीत में सीतारात येचुरी ने कहा कि देश में ऐसा कहीं कानून नहीं है कि सिर्फ तीन लोगों को ही मिलने की अनुमति दी जाए। उन्होंने कहा कि मुलाकात के दौरान विपक्षी दलों के महागठबंधन पर भी चर्चा हुई।गौरतलब है कि शनिवार को लालू प्रसाद यादव के साथ मुलाकात का दिन होता है, ऐसे में जेल मैनुएल के तहत तीन ही लोग लालू प्रसाद से मुलाकात कर सकते हैं और पिछले कई सप्ताह से विभिन्न विपक्षी दलों के नेता लालू प्रसाद की सेहत का हाल-चाल लेने के साथ ही  राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा कर रहे है।   

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *