पिता और पुत्र की एक साथ हुई शादी


लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे 132 जोड़ों की करायी गयी शादी , गरीबी के कारण कई दंपत्ति नहीं कर पाते शादी

रांची,14जनवरी। झारखंड में गरीबी की वजह से कई जोड़े वर्षां तक लिव इन रिलेशनशिप में रहने के बावजूद औपचारिक रूप से शादी नहीं कर पाते है और ऐसे जोड़ों को सामाजिक मान्यता नहीं मिल पाती है, लेकिन एक स्वयंसेवी संस्था के प्रयास से मंगलवार को रांची में ऐसे 132 जोड़ों की शादी करायी गयी और इन जोड़ों में सबसे खास जोड़े पिता और पुत्र की रही। पिता-पुत्र आज अपनी-अपनी जीवनसंगिनी के साथ पति-पत्नी के पवित्र बंधन में बंध गये।
राजधानी रांची के दीनदयाल नगर में आयोजित समारोह में लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे 132जोड़ों का सामूहिक विवाह कराया गया। विवाह मंडप में हिन्दू रीति-रिवाज के साथ ही ईसाई और सरना विधि विधान और परंपरा के अनुरूप शादी करायी गयी। इस मौके पर राज्य के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह इन जोड़ों को आशीर्वाद देने पहुंचे।
इन 132 जोड़ों में एक जोड़ा सबसे खास था, यहां एक ही मंडप पर बाप और बेटे ने सेहरा सजाया ।बताया गया हे कि लंबे समय से लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे थे और ऐसे में उनका एक बेटा भी हो गया। लेकिन जब तक मां-बाप की शादी नहीं होगी, तो बेटे की शादी कैसे होगी, ऐसे में पिता और बेटे दोनों ने एक साथ ही शादी कर ली।
इस सामूहिक विवाह के आयोजकों ने बताया कि अब भी ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी का आलम यह है कि पैसे के अभाव में लोग औपचारिक रूप से शादी नहीं कर पाते,ऐसे में कई युवक-युवती बैगर औपचारिक रूप से शादी किये सालों-साल पति-पत्नी के रूप में रहते है। ऐसे ही लोगों को शादी की सामाजिक मान्यता दिलाने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *