महागठबंधन में महाघमासान, वाम दलों ने किया किनारा


चार सीटों पर उम्मीदवार उतारने का निर्णय
रांची,10फरवरी। आसन्न लोकसभा चुनाव को लेकर एक ओर कांग्रेस, झारखंड विकास मोर्चा, झारखंड मुक्ति मोर्चा और राष्ट्रीय जनता दल समेत अन्य विपक्षी दल जहां महागठबंधन की रूपरेखा को अंतिम रूप देने में जुटे है, वहीं वाम दलों के लिए कोई सीट छोड़ने से नाराज वाम दलों ने महागठबंधन से किनारा कर लिया है।
भाकपा-माले, मासस, भाकपा और माकपा नेताओं की रविवार को रांची में हुई बैठक में महागठबंधन से किनारा करने का निर्णय लिया और झारखंड की चार लोकसभा सीटों कोडरमा, हजारीबाग, धनबाद और राजमहल उम्मीदवार उतारने का निर्णय लिया।
भाकपा-माले के राज्य सचिव जर्नादन प्रसाद ने बताया कि पार्टी हर हाल में कोडरमा संसदीय सीट से चुनाव लड़ेगी, पिछले दो लोकसभा चुनाव में से कोडरमा में पार्टी प्रत्याषी राजकुमार यादव की ओर से अच्छा प्रदर्षन किया जा रहा है और पिछले चुनाव में भी वे दूसरे स्थान पर रहे थे।
भाकपा के राज्य सचिव ने बताया कि हजारीबाग संसदीय सीट का दो बार भाकपा के भुवनेष्वर प्रसाद मेहता चुनाव जीत चुके है और उनका इस सीट पर स्वभाविक दावा बनता है। माकपा की ओर से राजमहल संसदीय सीट से पार्टी के वरिष्ठ नेता सीताराम मांझी को उम्मीदवार बनाये जाने का संकेत दिया है, जबकि धनबाद संसदीय सीट से मासस विधायक अरूप चटर्जी से चुनाव लड़ने का आग्रह किया गया है।
वाम दलों की ओर से आगामी 13 फरवरी को रांची में पुनः बैठक बुलायी गयी है, जिसमें आगामी रणनीति का खुलासा किया जाएगा।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *