हर जिले में पोल्ट्री फेडरेशन सोसाइटी के माध्यम से सखी मंडलों को चार की सहायता-मुख्यमंत्री

लातेहार में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना जागरूकता समारोह की शुरुआत
रांची,11फरवरी। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को लातेहार में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना जागरूकता समारोह का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भ्रूण हत्या पर अंकुश लगाने के लिए सुकन्या योजना की शुरुआत की गयी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिंग अनुपात में कमी आने के कारण हरियाणा की भूमि से बेटी बचाओ का आह्वान किया था, हालांकि झारखंड में यह अनुपात ठीक है, खास कर अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति बाहुल गांवों में लिंगानुपात बेहतर है, शहरी क्षेत्रों में लोग भ्रूण जांच करवाते है और भ्रूण हत्या करवाते है, लेकिन गर्भ में पल रही बच्ची अपनी मां से प्रार्थना करती है कि उसे भी जन्म लेने दिया जाए।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री सुकन्या योजना शुरू करने का मुख्य रूप से दो उद्देश्य है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने अनुभव किया कि सातवीं और आठवीं कक्षा में बच्चियों के ड्राप आउट होने की संख्या अधिक थी, वहीं कुछ इलाकों में बाल विवाह भी हो रही थी, इस पर अंकुश लगाने के लिए योजना की शुरुआत की गयी। यह योजना गरीब बच्चियों की पढ़ाई-लिखाई से लेकर विदाई तक सहारा बनने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि उनका जन्म भी गरीबों की बस्ती में हुआ, उनसे बड़ी तीन बहनें थी, उन्होंने देखा है कि घर में बेटी रहेगी, तो वह बच्चा भी खेलाने का काम करेगी और रसोई में हाथ बंटाने तथा घर में आये मेहमान का स्वागत करने का काम करेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने घर-घर बिजली, स्वस्च्छ पेयजल, आयुष्मान योजना का लाभ देकर ग्रामीणों की समस्याओं को कम करने का प्रयास किया है। उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत आगामी तीन महीने में 57लाख परिवारों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध करा दिया जाएगा, जिसके कारण से सभी गरीब परिवारों को पांच लाख रुपये का बीमा मिल सकेगा।
उन्होंने कहा कि आज भी स्कूलों में बच्चों को अंडा उपलब्ध कराने के लिए राज्य के बाहर से अंडा मंगाना पड़ता है, इस कमी को दूर करने के लिए अब अनुसूचित क्षेत्रों में हर जिले में पोल्ट्री फेडरेशन सोसाइटी बनायी जाएगी और महिला सखी मंडलों को इस सोसाइटी के माध्यम से चार लाख रुपये की सहायता उपलब्ध करायी जाएगी,ताकि वह आत्मनिर्भर हो सके। इसके अलावा शेड बनाने में भी सरकार सहायता उपलब्ध करायेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस के जवानों के अथक प्रयास और ग्रामीणों के सहयोग से लातेहार जिला भी आज अहिस्ता-अहिस्ता नक्सल मुक्त क्षेत्र की ओर बढ़ रहा है और उग्रवाद समाप्ति की ओर अग्रसर है।
लातेहार जिला खेल स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कई योजनाओं का शिलान्यास भी किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण किया। साथ ही उन्होंने हाईस्कूल के शिक्षकों और एएनएम के बीच नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया।इसके अलावा टाना भगत को आवास, वन पट्टा एवं गाय का वितरण, महिला स्वयं सहायता समूह को सिलाई मशीन व आटा चक्की, मनरेगा लाभुक को पंपसेट तथा आंगनबाड़ी सेविका के बीच प्रेशर कुकर का वितरण किया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *