झारखंड में भाजपा-जदयू का अलग राह

जदयू ने सभी 14 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा करने की घोषणा की
रांची,14मार्च। बिहार में जनता दल यूनाईटेड (जदयू) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) घटक में शामिल है और वहां भाजपा-जदयू ने 17-17 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। लेकिन झारखंड में दोनों दलों ने अलग-अलग राह पकड़ लिया है। भाजपा ने राज्य की 14 लोकसभा सीटों में 13 सीटों पर खुद लड़ने का निर्णय लिया है। वहीं एक सीट सहयोगी दल आजसू पार्टी के लिए छोड़ी है। जबकि झारखंड में भाजपा ने अपनी मजबूत स्थिति के बिहार में एनडीए में शामिल घटक दल लोक जनशक्ति पार्टी और जदयू के लिए कोई सीट नहीं छोड़ी है।
जदयू के प्रदेश मुख्यालय प्रभारी कृष्णानंद मिश्रा और संजय सहाय ने गुरुवार को रांची में बताया कि पार्टी की प्रदेश कार्यकारिणी के निर्णय के अनुसार जदयू ने राज्य की सभी 14 लोकसभा सीटां से चुनाव उतारने का निर्णय लिया है। उन्होंने पार्टी के सभी नेताओं-कार्यकर्त्ताओं से आग्रह किया है, तो भी कार्यकर्त्ता चुनाव लड़ने को इच्छुक है, वे अपना बायोडाटा प्रदेश मुख्यालय में 18मार्च तक जमा करा दें।
कृष्णानंद झा ने बताया कि जदयू के प्रदेश प्रभारी रामसेवक सिंह और सह प्रभारी अरूण कुमार सिंह के माध्यम से स्क्रूटनी के बाद सूची राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास भेजी जाएगी और उम्मीदवारों के नाम की घोषणा नीतीश कुमार से सहमति मिलने के बाद ही की जाएगी।
गौरतलब है कि वर्ष 2014 में भी भाजपा ने राज्य की सभी 14 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन कुछ ही महीने बाद हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने सहयोगी दल आजसू पार्टी और लोजपा के लिए भी कुछ सीटें छोड़ी थी। इससे पहले भी विधानसभा चुनाव में भाजपा और जदयू के बीच गठबंधन हो चुका है, लेकिन लोकसभा चुनाव में भाजपा अपने बलबूते ही चुनाव मैदान में उतरती रही है और अलग झारखंड राज्य गठन के बाद यह पहला मौका है, जब भाजपा ने लोकसभा की एक सीट सहयोगी दल आजसू पार्टी के लिए छोड़ी है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *