भाजपा में संभावित पराजय से बौखलाहट-सुप्रियो भट्टाचार्य


रांची,14मार्च। झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि संभावित पराजय से बौखलाई भारतीय जनता पार्टी का आचरण न केवल हास्यास्पद है वरन उनके हताश्शा को स्पष्ट परिलक्षित करता है। कल आयोजित ट्विटर पर हेमन्त की चौपाल कार्यक्रम के सफलता से भारतीय जनता पार्टी की झारखण्ड प्रदेश्श ईकाई इस प्रकार तिल-मिला गई है कि तथ्यहीन आरोप पत्र के जरिये चुनाव आयोग को भी भ्रमित करने का प्रयास कर रही है। भाजपा ने यह आरोप लगाया कि हेमन्त की चौपाल के प्रचार-प्रसार के लिए शहर में आचार संहिता के विरूद्ध हॉर्डिंग लगाए गए। जबकी तथ्य यह है कि समस्त 10 हॉर्डिंग का प्रकाश्शन सक्षम प्राधिकार द्वारा अनुमोदित था, जिसका पत्रांक 651/गो० दिनांक 11/03/2019 था। हेमन्त की चौपाल कार्यक्रम भी सक्षम प्राधिकर द्वारा स्वीकृत था, जिसका ज्ञापांक 653/गो० दिनांक 11/03/2019 था।
उन्होंने कहा कि राजनैतिक स्तर पर परास्त भाजपा जब अगामी लोक सभा के चुनाव का सामना करने को तैयार नहीं है, उस वक्त अपनी झल्लाहट छिपाने के लिए भाजपा अब अनाप-श्शनाप बयानबाजी कर रही है। पिछले पाँच आम चुनाव में गिरिडीह लोक सभा क्षेत्र से लगातार जीत दर्ज करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अपनी दुर्दशश का आकलन करते हुए इस बार यहाँ से चुनाव न लड़ने का निर्णय लेकर यह स्पष्ट कर दिया कि उसकी पूरे राज्य में स्थिति क्या है? 2004 में जब भाजपा ने साईनिंग इण्डिया और फील गुड इण्डिया के नारे के साथ तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के नेतृत्व में चुनाव लडा था, तब झारखण्ड के आवाम ने तत्कालीन भाजपा के जुमलों एवं सपनों से निजात पाने के लिए अपनी आवाज से भाजपा को करारी श्शिकस्त देने का काम किया। उसी प्रकार इस बार जब वर्त्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा अगामी चुनाव अपने पांच वर्ष के लगातार झुठे वायदे एवं कल्पनातीत सपनों के साथ लडने का मंश्शा बना रही है, तब फिर एक बार जनता ने यह ठान लिया है कि इस बार के 14 लोकसभा सिटों से भाजपा वं उनके सहयोगी दलों को सम्पूर्ण सफाया कर यह साबित कर देगी कि देश और राज्य अब अपने बुनियादी अधिकार के साथ किसी भी प्रकार के होने वाले छलावे के विरूद्ध एकजुट है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *